Unemployment: कोरोनाकाल में भी छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी दर में हुआ सुधार, 2.7 फीसदी पर पहुंची

  • सीएमआईई के आंकड़ों के अनुसार देश में बेरोजगारी की दर घटकर हुई 6.5 फीसदी

By: ashutosh kumar

Updated: 03 Apr 2021, 01:52 AM IST

  • असम में 1.1 फीसदी और मध्यप्रदेश में 1.6 फीसदी रही बेरोजगारी दर

रायपुर. छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी की दर मार्च के अंत तक घटकर 2.7 फीसदी रह गई है, जो राष्ट्रीय स्तर पर देश में बेरोजगारी की दर 6.5 फीसदी से काफी कम है। छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी दर में सुधार आया है, वहीं हरियाणा में स्थिति और अधिक खराब हुई है, यहां मार्च महीने में बेरोजगारी दर रेकॉर्ड 28.1 फीसदी पर बनी हुई है।
शहरी क्षेत्रों में बेरोजगारी दर 7.2 फीसदी और ग्रामीण क्षेत्रों में 6.3 फीसदी रेकॉर्ड की गई है। इसे ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि में बढ़े कामकाज और शहरी क्षेत्रों में औद्योगिक गतिविधियों के तेज होने का परिणाम माना जा रहा है। सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी के अनुसार, वित्त वर्ष की पहली तिमाही के अंत में राष्ट्रीय स्तर पर बेरोजगारी दर 6.5 फीसदी हो गई है। फरवरी के 6.9 फीसदी की तुलना में इसमें 0.4 फीसदी तक की कमी आई है।

सेंटर फर मानिटरिंग इंडियन इकोनामी (सीएमआईई) के मुताबिक असम में 1.1 फीसदी, कर्नाटक में 1.2 फीसदी, मध्यप्रदेश और ओडिशा में 1.6 फीसदी, सिक्किम में 1.7 फीसदी, गुजरात में 2.1 फीसदी और छत्तीसगढ़ में 2.7 फीसदी पाई गई है। अगर कोरोना के कारण स्थिति ज्यादा गंभीर होती है, तो राष्ट्रीय स्तर पर बेरोजगारी दर में दोबारा बढ़ोतरी हो सकती है। पिछले वर्ष कोरोना महामारी के कारण देशभर में लॉकडाउन लगाना पड़ा था और अप्रैल, 2020 में बेरोजगारी दर 23.52 फीसदी के रेकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई थी। आपको बता दें कि भारत में असंगठित क्षेत्र में नौकरियों पर नजर रखने के लिए कई सरकारी मैट्रिक्स अपनाए जाते हैं। जैसे सीएमआईई सर्वे लेबर मार्केट पर नजर रखने के लिए एक प्रॉक्सी के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है।

  • छत्तीसगढ़ में मार्च 2020 में बेरोजगारी दर 7.5 फीसदी थी
    छत्तीसगढ़ में जनवरी 2020 में बेरोजगारी दर 9.7 फीसदी, फरवरी में 8.4 फीसदी, मार्च 7.5 फीसदी, अप्रैल में 3.4 फीसदी, मई में 10.5 फीसदी, जून में 14.2 फीसदी, जुलाई में 10.3 फीसदी, अगस्त में 5.6 फीसदी, सितंबर में 2.0 फीसदी, अक्टूबर में 6.7 फीसदी, नवंबर में 3.4 फीसदी, दिसंबर में 7.2 फीसदी। जनवरी 2021 में बेरोजगारी दर 6.4 फीसदी, फरवरी में 6.2 फीसदी और वित्त वर्ष की पहली तिमाही के अंत में 2.7 फीसदी रही।
  • बेरोजगारी के मामले में देशभर के राज्यों में हरियाणा टॉप पर
    भाजपा शासित राज्य हरियाणा में बेरोजगारी लगातार रेकॉर्ड स्तर पर बनी हुई है। मार्च महीने में हरियाणा में बेरोजगारी दर 28.1 फीसदी दर्ज की गई है। इसके बाद गोवा में 22.1 फीसदी, राजस्थान में 19.7 फीसदी, त्रिपुरा में 13.9 फीसदी, हिमाचल प्रदेश में 14.3 फीसदी, बिहार में 14.5 फीसदी, झारखंड में 12.8 फीसदी और देश की राजधानी दिल्ली में 9.4 फीसदी रेकॉर्ड की गई है।
  • छत्तीसगढ़ में ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक लोगों को मिला रोजगार
    छत्तीसगढ़ में अप्रैल 2020 के अंतिम सप्ताह से ही औद्योगिक गतिविधियां प्रारंभ हो गई थी। वर्तमान में लगभग शत-प्रतिशत उद्योगों में कोरोना से रोकथाम और बचाव के साथ काम शुरू हो गया है। मनरेगा में अधिक से अधिक रोजगार मूलक कार्यों के संचालन और लघुवनोपज की खरीदी से प्रदेश में रोजगार के अवसर बढ़े हैं। वहीं छत्तीसगढ़ में वित्तीय वर्ष के अंतिम महीने मार्च में भी जीएसटी संग्रहण में वृद्धि दर्ज की गई है। राज्य में मार्च 2020 की तुलना में मार्च 2021 में जीएसटी संग्रहण में 22 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।
ashutosh kumar Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned