सपा के सांसद आजम खान 21 जून को मनाएंगे काला दिवस, देखें पूरा VIDEO

Iftekhar Ahmed | Updated: 12 Jun 2019, 07:16:58 PM (IST) Rampur, Rampur, Uttar Pradesh, India

  • जनसभा में पुलिस की दखलअंदाजी से भड़के आजम
  • पुलिस के व्यवहार को बताया सांसद का अपमान
  • विरोध में संसद न जाकर मनाएंगे काला दिवस

रामपुर. समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता और रामपुर के नवनिर्वाचित सांसद आजम खान ने अपनी पार्टी कार्यालय से एक बड़ी घोषणा की है। उन्होंने कहा है कि मैं आगामी 21 जून को जब देश के राष्ट्रपति संसद भवन में संसद को संबोधित कर रहे होंगे, तब मैं रामपुर में अपने समर्थकों के साथ अपने बाहों पर काली पट्टी बांधकर काला दिवस मनाऊंगा। आजम खान ने कहा कि सरकार और प्रशासन मेरे ऊपर नाजायज दबाव बनाकर हमलावर हो रही है। वे आतंकियों की तरह मेरे ऊपर हमला कर रहे हैं। उन्होंने अपने जिले के सीओ सिटी समेत कई अफसरों पर भी गंभीर आरोप लगाए। आजम खान ने कहा कि कई ऐसे अफसर हैं जो मेरी हत्या कराना चाहते हैं। रामपुर को खून में नहलाना चाहते हैं, लेकिन मैं रामपुर को खून में नहलाने नहीं दूंगा। उसके लिए चाहे मुझे किसी भी हद तक आगे जाना पड़े, क्योंकि भारत एक लोकतांत्रिक देश है और लोकतांत्रिक देश होने के नाते मैं एक भारतीय नागरिक हूं। इसीलिए में लोकतांत्रिक तरीके से उस दिन को काला दिवस के रूप में मनाऊंगा लूंगा।

जनाभार सभा को आजम ने किया संबोधित
दरअसल, रामपुर लोकसभा सीट से चुनाव जीतने के बाद मंगलवार को धन्यवाद सभा का आयोजन किया गया था, जिसमें सपा कार्यकर्ता समेत भारी संख्या में लोगों की भीड़ जुटी थी। इस दौरान आजम खान ने मंच संभालते ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत तमाम विपक्षियों पर जमकर जुबानी हमला बोला और चुनाव जिताने के लिए जनता का शुक्रिया अदा किया।

हालात बिगड़ने से आजम ने बचाया
बता दें कि इस जनसभा के लिए रात्रि 10 बजे का समय निर्धारित था, लेकिन इसके बावजूद 10:15 बजे तक जनसभा चलती रही। टाइम ओवर होता देख पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे क्षेत्राधिकारी ने आजम खान की ओर इशारा करते हुए समय बताने का प्रयास किया। अधिकारी का इशारा देखते ही आजम खान भडक़ गए और अपनी गिरफ्तारी की बात कहने लगे। यह सुनते ही आजम खान के समर्थक भड़क गए। भीड़ तैश में आ गई और पुलिस अधिकारी की ओर बढऩे लगी। स्थिति बेकाबू होता देख आजम खान मंच से गुस्साई भीड़ को अधिकारी की ओर जाने से रोका। इसके बाद मौके पर मौजूद सपा कार्यकर्ताओं ने जैसे-तैसे भीड़ को शांत किया। जनसभा के अंत में आजम खान ने पुलिस पर ही आरोप लगाते हुए कहा कि हम पुलिस के इस रवैए की मजम्मत करते हैं। पुलिस ने जलसे का माहौल खराब किया है।


आजम ने अफसरों पर लगाए गंभीर आरोप
पुलिस की टोका-टोकी के बीच आजम खान ने कहा कि मैंने अपना भाषण 10 बजे से आगे नहीं बोला, फिर भी सीओ सिटी और कई पुलिसकर्मियों ने जाकर मुझे एक सांसद होने के बाद भी बोलने से रोका। सीओ बोले आप भाषण बंद करिए एक सांसद पर खाकी वर्दी वाले कैसे रौब जमा कर यह भाषा बोल रहे हैं कि आप अपना भाषण बंद करिए। यह क्या है। यह लोकतंत्र की हत्या करने जैसा है। हमें जनता ने चुना है और जनता के बीच में हैं। जब हम उनसे बात कर रहे हैं तो हमें इस तरह से रोका जाएगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned