मंगल-शनि-गुरू ग्रह 854 साल बाद एक ही राशि में

29 मार्च को गुरू ग्रह मकर राशि में आ गया है मकर राशि में पूर्व में शनि अपनी स्वग्रह राशि में और मंगल राशि में है। वर्तमान में पूरी दुनिया कोरोना वायरस की चपेट में है। इस वायरस का प्रभाव सूर्य के मेष में राशि परिवर्तन के दौरान और बढेग़ा। इसलिए इसके प्रति लॉक डाउन का पालन करते हुए घर में रहकर सतर्कता रखने की जरुरत है। 1

By: Ashish Pathak

Published: 31 Mar 2020, 07:00 AM IST

रतलाम. 29 मार्च को गुरू ग्रह मकर राशि में आ गया है मकर राशि में पूर्व में शनि अपनी स्वग्रह राशि में और मंगल राशि में है। वर्तमान में पूरी दुनिया कोरोना वायरस की चपेट में है। इस वायरस का प्रभाव सूर्य के मेष में राशि परिवर्तन के दौरान और बढेग़ा। इसलिए इसके प्रति लॉक डाउन का पालन करते हुए घर में रहकर सतर्कता रखने की जरुरत है। 14 अप्रैल को सूर्य अपनी उच्च राशि मेष में आएगा तब जाकर इसका प्रभाव कम होना शुरू होगा।

कारोना वायरस के बीच आई खुश खबर

Horoscope Weekly 20 July To 25th July Rashifal Astrology In Hindi

ज्योतिषी रवि जैन ने बताया कि सूर्य के मेष राशि में आने के बाद धीरे धीरे कोरोना वायरस का प्रभाव कम होगा जो 4 मई तक जाकर 80 प्रतिशत तक कम होगा, लेकिन पूरी तरह इसका प्रभाव सितम्बर माह तक पूरे विश्व में खत्म हो सकेगा। ज्योतिषी जैन ने बताया कि 29 मार्च की शाम से गुरू अपनी नीच राशि मकर में आ गया है। मकर राशि में पूर्व से ही मंगल व शनि ग्रह है। इन तीन ग्रहो की युति में जहां मंगल अपनी उच्च राशि में है तो गुरू नीच राशि में और शनिग्रह अपनी स्वग्रही राशि में होगा।

स्टेशन पर चौथा गेट हो रहा तैयार, मार्च अंत तक पूरा होगा

indian astrology in hindi

1166 में बना था यह योग

ज्योतिषी जैन के अनुसार 15 अप्रैल 1166 को तीनों ग्रह मकर राशि में थे। अब 29 मार्च को 854 साल बाद तीनों ग्रह मकर राशि में 4 मई तक होगे। मंगल ग्रह ने 7 फरवरी से धनु राशि में प्रवेश किया था। उस समय केतू और गुरू धनु राशि में ही थे। ऐसे में फरवरी के बाद से कोरोना वायरस का प्रभाव ज्यादा दिखाई देने लगा। वायरस का प्रभाव 14 अप्रैल के बाद से कम होगा जो धीरे धीरे 4 मई और पूर्णत: सितम्बर माह तक कोरोना वायरस तक समाप्त हो पाएगा।

एमपी बोर्ड की परीक्षा में POK को बताया आजाद कश्मीर, पूछा अजीब सवाल

indian astrology and horoscope for sun signs in new year 2020

4 मई तक रहेगी यह युति

मंगल-शनि-गुरू की युति 4 मई तक रहेगी। गुरू अपनी सीधी चाल से उल्टी चाल चलकर जून ामह में पुन: अपनी स्वग्रही राशि धनु में आ जाएगा जो इस वर्ष नवम्बर माह तक रहेगा। इसके बाद फिर से मकर राशि में आ जाएगा। तीन ग्रहों की युति से सभी राशियों वालो के लिए मिलाझुला असर दिखाई देगा। मेष, कन्या, वृश्चिक, धनु के लिए अनुकूल रहेगा तो मिथुन, मकर, कुंभ के लिए मध्यम व वृषभ, कर्क, सिंह, तुला राशि वालों को सावधानी से निर्णय लेना होगा।

कोरोना वायरस : रेलवे ने 15 अप्रैल तक बदले रिफंड के नियम

पांच दिनों में सोना 1300 रुपए, चांदी 3600 रुपए गिरावट

VIDEO ट्रेन में सफर के दौरान शिवानी को हुए पीरियड, चलाया अभियान, बदल गई जिंदगी, मिला इंटरनेशनल पुरस्कार

यहां पढे़ क्या कहते है सिंधिया के भाजपा में आने के बाद सितारे

शुभ विवाह मुहूर्त 2020 : एक साल में सिर्फ 56 दिन होंगे सात फेरे

74 years old man with corona virus Test negative discharged in TN
Show More
Ashish Pathak Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned