scriptबीना नदी में कुछ दिन का पानी शेष, दोनों तरफ नदी की तलहटी आने लगी नजर | Patrika News
सागर

बीना नदी में कुछ दिन का पानी शेष, दोनों तरफ नदी की तलहटी आने लगी नजर

अब जल्द मानसून आने का है इंतजार कर रहे अधिकारी, शहर से पहले रेलवे क्षेत्र में गहराए जल संकट

सागरJun 10, 2024 / 12:24 pm

sachendra tiwari

A few days of water left in Bina river

रेलवे के पंप हाउस के पास नदी में पानी की स्थिति

बीना. रेलवे, शहर में बीना नदी से पानी सप्लाई हो रहा है और इसके अलावा कोई दूसरा जलस्रोत नहीं है। नदी तेजी से खाली हो रही और नपा व रेलवे के पंपहाउस के दोनों तरफ नदी की तलहटी नजर आने लगी है, जिससे कुछ दिनों का पानी ही नदी में शेष बचा है।
नपा और रेलवे के पंप हाउस नदी के निचले हिस्से में बने हुए हैं, जिससे वहां बाद तक पानी रहता है। जलस्तर कम होने से नदी दोनों ओर से सूखने लगी है और छपरेट घाट, मुहांसा तरफ तलहटी दिखने लगी है। यदि इसी तरह जलस्तर गिरता रहा, तो कुछ दिनों में ही पानी खत्म हो जाएगा। नदी सूखने से शहर और रेलवे क्षेत्र में जल संकट आ जाएगा। नगर पालिका ने तो नदी में पानी लिफ्ट करने की तैयारी पहले से कर रखी है, लेकिन रेलवे ने अभी तक कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं बनाई है। रेलवे के पंप हाउस में एक माह पहले ही पानी पहुंचना बंद हो गया था, जिससे अलग से नदी मे पंप रखने पड़े हैं।
बीस दिन में बीस इंच खिसका पानी
नपा के इंटकवेल का दूसरा स्टेनर बीस दिन में पानी से ऊपर आ गया है। इसकी चौड़ाई बीस इंच है और इसके अनुसार बीस दिन में बीस इंच पानी खत्म हो गया है। इस पाइप के नीचे अभी तीन फीट पानी शेष है, जो अब तेजी से कम होगा, इसलिए अब अधिकारी मानसून का इंतजार करने लगे हैं।
लि​फ्टिंग की तैयारी है पूरी
इंटकवेल में तीसरे पाइप के ऊपर तीन फीट पानी है और मानसून में देरी होने पर पानी लि​फ्टिंग करने की पूरी तैयारी है।
विवेक ठाकुर, प्रभारी, जल प्रदाय शाखा, नपा

Hindi News/ Sagar / बीना नदी में कुछ दिन का पानी शेष, दोनों तरफ नदी की तलहटी आने लगी नजर

ट्रेंडिंग वीडियो