मौसम में हो रहा बदलाव, ठण्ड में हो रही बारिश

दोपहर में गर्मी, सुबह-शाम गुलाबी ठण्ड

सिवनी. रिकॉर्ड तोड़ बारिश का दौर थमने के बाद अब लोगों को ठण्डक का अहसास होने लगा है। हालांकि बीते दो दिनों से मौसम में फिर बदलाव देखने को मिला है। शुक्रवार को दोपहर व शाम के समय आसमान में जहां कोहरे जैसी सफेदी छाई रही वहीं शनिवार को सुबह हल्की बारिश हुई। अब सुबह-शाम हल्की सर्द हवाओं से ठण्ड पडऩे लगी है। बीते दिनों मौसम विभाग ने मौसम परिवर्तन के संकेत पहले ही दे दिए थे जिसके बाद से ही हल्की ठण्डक महसूस की जाने लगी है। शनिवार को अधिकतम 28 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम 21 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।
जानकारों का कहना है कि बारिश ज्यादा होने के कारण माना जा रहा है कि इस बार ठण्ड जल्दी दस्तक दे सकती है। विण्ड पैटर्न यानी हवा का रुख जल्दी सेट होने का भी अनुमान लगाया गया है। मौसम विभाग के अनुसार रविवार के बाद से रात के तापमान में कुछ गिरावट दर्ज की जा सकती है।
मौसम विभाग के अनुसार मौसम अब पूरी तरह सामान्य हो चुका है। अब मौसम साफ रहेगा। इस बार सर्द हवाओं के चलने से 15 दिन बाद ठण्ड और कोहरा पडऩा आरंभ हो जाएगा। दीपावली के बाद मौसम में तेजी से बदलाव देखे जा सकते हैं।
डॉक्टरों से दी सलाह
मौसम में हो रहे बदलाव के चलते चिकित्सकों ने स्वास्थ्य के प्रति विशेष सतर्क रहने की सलाह दी है। सुबह के समय हल्की सर्दी होती है इसलिए पूरी आस्तीन के कपड़े पहनकर ही घूमने जाए। अस्थमा की समस्या है तो अपने चलने की गति नॉर्मल रखें साथ ही फुल कपड़े पहनें। हृदय रोग, रक्तचाप या कोई अन्य गंभीर समस्या वाले रोगी टहलना प्रारंभ करने से पहले चिकित्सक की सलाह अवश्य लें। शुरुआत में टहलते समय उसके प्रारंभ और अंत में हमेशा गति धीमी रखने की सलाह चिकित्सकों के द्वारा सामान्यत: दी जाती रही है। इसके साथ ही खान-पान में भी गर्म व ताजा भोजन करने बात कही है।
तापमान में उतार-चढ़ाव
पिछले कुछ दिनों से मौसम का मिजाज अजीबोंगरीब बना हुआ है। दिन में तेज धूप की वजह से गर्मी और रात में गुलाबी ठण्ड का एहसास होने से अब ठण्ड की शुरूआत हो गयी है। रात का तापमान 20 डिग्री सेल्सियस से नीचे तक पहुच गया है। तापमान में उतार-चढ़ाव के कारण लोगों की सेहत बिगड़ रही है जिससे ज्यादातर लोग जुकाम, बुखार, सर्दी व खांसी की चपेट में हैं।
वहीं सुबह और शाम के समय गुलाबी ठण्ड आरंभ होने से इस बार सर्दी कितनी पड़ेगी ये कह पाना मुश्किल है। हालांकि मौसम विभाग के सूत्रों ने बताया कि इस बार दो माह में बारिश अधिक होने के चलते और पूर्व से चलने वाली सर्द हवाओं से नमी बढ़ी है। रात का तापमान 20 डिग्री से नीचे अमूमन शीत ऋतु का आगमन शरद पूर्णिमा के साथ माना जाता है, लेकिन इस वर्ष एक सप्ताह पहले से असर दिखने लगा है। सुबह-शाम के वक्त गुलाबी सर्दी महसूस हो रही है।

Show More
santosh dubey
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned