scriptKuno Festival First Cheetah Safari of India start in Kuno mp Tourist visit cheetah in Kuno festival Kuno national park sheopur mp | Good News: देश की पहली चीता सफारी शुरू, टूरिस्ट ने ढूंढे चीते, संगीत की महफिल से सजी शाम, देखें Kuno Festival की ये तस्वीरें | Patrika News

Good News: देश की पहली चीता सफारी शुरू, टूरिस्ट ने ढूंढे चीते, संगीत की महफिल से सजी शाम, देखें Kuno Festival की ये तस्वीरें

locationश्योपुरPublished: Dec 19, 2023 08:17:58 am

Submitted by:

Sanjana Kumar

Good News: चीतों के रहवास कूनो नेशनल पार्क से चीता सफारी की शुरुआत आखिरकार हो ही गई। यह देश की पहली चीता सफारी है। सेंट्रल जू अथॉरिटी की सैद्धांतिक मंजूरी के बाद यह चीता सफारी शुरू की गई है। कूनो फेस्टिवल में शुरू की गई इस चीता सफारी का फेस्टिवल में पहुंचे टुरिस्ट ने जमकर मजा लिया, सुबह जंगल सफारी के बाद ये मेहमान रात में संगीत की महफिल से आनंदित होते नजर आए...

first_cheetah_safari__start_in_kuno_national_park_tourist_in_kuno.jpg

Good News: ध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड द्वारा कूनो फॉरेस्ट फेस्टिवल के पहले संस्करण का रंगारंग आगाज हो गया है। सोमवार को देशभर से आए आगंतुकों ने जंगल सफारी, हॉट एयर बलूङ्क्षनग, पैरामोटङ्क्षरग जैसी गतिविधियों का आनंद लिया। न्यासा बैंड की धून पर युवा लोग झूम उठे और गायक गौतम काले की प्रस्तुतियों ने समां बांधा। मेवाती घराने से संबंध रखने वाले एवं संगीतज्ञ पंडित जसराज के शिष्य काले की प्रस्तुतियों ने आगंतुकों को मोहित किया।

kuno_festival_in_kuno_national_park_mp.jpg

जिले के ग्राम रानीपुरा (सेसईपुरा) में स्थित कूनो फॉरेस्ट रिट्रीट (टेंट सिटी) बनाई गई है। एक निजी कंपन द्वारा मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड के सहयोग से आयोजित हो रहे कूनो फॉरेस्ट फेस्टिवल में सोमवार को अनुभव आधारित गतिविधियां आयोजित की गई। रात में खुले आकाश में तारों की दुनिया देख हर कोई रोमांचित हो रहा है। सोमवार की सुबह कूनो राष्ट्रीय उद्यान का भ्रमण किया। राष्ट्रीय उद्यान में विभन्न प्रजातियों के पक्षियों एवं वन्यजीवों का अविस्मरणीय अनुभव प्राप्त किया। पहाडिय़ों, संकरे रास्तों, पथरीली चट्टानों से होते हुए उद्यान की समृद्ध जैव विविधता, शांत परिदृश्य का अनुभव लिया।

kuno_festival_beautiful_pics.jpg

देव-खो देख हुए आश्चर्यचकित
आगंतुकों को कूनो फॉरेस्ट रीट्रीट के पास स्थित पर्यटन स्थल देव-खो भ्रमण के लिये जाया गया। चारों तरफ पहाड़ एवं वन्यक्षेत्र से घिरा यह क्षेत्र देख हर कोई आश्चर्यचकित रहा। रात में सांस्कृतिक कार्यक्रम के बाद नाइट वॉक एवं स्टरगेङ्क्षजग का आनंद लिया।

kuno_national_park_kuno_festival_activities.jpg

पारोंद क्षेत्र कूनो के अहेरा पर्यटन जोन में आता है। आपको बता दें कि प्रोजेक्ट चीता के साथ इसी साल मार्च से जुलाई के बीच चीतों को खुले जंगल में छोड़ा गया था, लेकिन बाद में हुई मौतों के चलते सभी चीतों को वापस बाड़े में शिफ्ट कर दिया और 13 अगस्त को अंतिम चीता निर्वा को भी बाड़े में शिफ्ट किया गया। यही वजह है कि बीते 125 दिन (13 अगस्त से 17 दिसंबर) से सभी चीते बाड़ों में बंद थे। अब रविवार से फिर चीतों को खुले जंगल में छोड़ दिया गया। फिलहाल दो नर चीते वायु और अग्नि को कूनो के जंगल में छोड़ा गया है।

14 वयस्क और एक शावक चीता

कूनो में वर्तमान में 14 वयस्क और एक शावक चीता मौजूद हैं। इनमें से 2 चीते अब खुले जंगल में छोड़ दिए गए हैं, लिहाजा 12 बड़े चीता बाड़ों में शेष हैं।
cheetah_in_kuno_national_park.jpgअब पर्यटक देख सकेंगे चीता

रविवार को 2 नर चीता अग्नि और वायु को कूनो के पारोंद वनक्षेत्र में सफलतापूर्वक छोड़ा गया। दोनों चीते पूर्ण रूप से स्वस्थ हैं। पर्यटन जोन में चीतों की मौजूदगी से अब पर्यटक चीतों को देख सकेंगे।
- उत्तम कुमार शर्मा, सीसीएफ, सिंह परियोजना श्योपुर-शिवपुरी

ट्रेंडिंग वीडियो