अनापुर के पास टेम्पो रुकवाकर लूटा, अधमरा कर चालक को जंगल में छोड़ा

चंद घंटों में एक आरोपी गिरफ्तार, टेम्पो और घटना में प्रयुक्त कार जब्त

सिरोही/रेवदर. रेवदर क्षेत्र के अनापुर के पास शनिवार तड़के कुछ बदमाशों ने एक टेम्पो रुकवाकर चालक व उसके साथी से मारपीट कर पर्स, कागजात और वाहन लूट ले गए। साथ ही दोनों से मारपीट कर उन्हें अधमरा कर जंगल में पटक गए। पुलिस ने घटना के कुछ घंटों में ही एक आरोपी को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से टेम्पो बरामद कर लिया। साथ ही घटना के दौरान प्रयोग में ली गई एक कार को जब्त किया है। अन्य आरोपियों की तलाश जारी है।
पुलिस के अनुसार शनिवार सुबह पौने पांच बजे अभय कमाण्ड सिरोही से सूचना मिली कि अनापुर के पास एक टेम्पो चालक के साथ लूट हुई है। सूचना पर रेवदर थाना प्रभारी ओमप्रकाश दल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। वहां पहले ही तैयार पुलिसकर्मियों से घटना की जानकारी ली। पता चला कि अहमदाबाद से जतिनकुमार पुत्र देव शंकर जोशी अपने मित्र कमरूदीन के साथ एक टेम्पो में पानी की मोटर भरकर जालोर गया था और वहां से खाली कर वापस आ रहा था। इसी दौरान अनापुर के पास सड़क पर एक कार के पास खड़े कुछ युवकों ने इशारा कर टेम्पो रुकवाया। फिर उनके साथ मारपीट कर कार में डालकर जंगल में ले गए। वहां मारपीट कर वहां दोनों को अधमरा कर छोड़ गए। साथ ही पर्स में 13 हजार रुपए, गाड़ी के कागजात और टेम्पो लूट ले गए। जतिन भाई की रिपोर्ट पर पुलिस ने मामला किया।
तीन थानों का जाप्ता बुलाकर पहाड़ी को घेरा
घटना के कारित करने के बाद आरोपी वाहन को पास वडवज के पहाड़ी क्षेत्र में लेकर चले गए। पुलिस ने भी घटना के तत्काल बाद जालोर और सिरोही के लगते इलाकों में नाकाबंदी करवाई गई। साथ ही एसपी कल्याणमल मीना ने मामले को गंभीरता से लेते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हर्ष रत्नू, रेवदर वृत्ताधिकारी फाउलाल मीणा दांतराई चौकी पहुंचे और कैम्प रखा।
रेवदर के अलावा मण्डार और कालन्द्री से अतिरिक्त जाप्ता बुलाकर पहाड़ी क्षेत्र को चारों तरफ से घेरा। पुलिस की चारों तरफ से इस तरह घेराबंदी की गई कि आरोपियों को पहाड़ी क्षेत्र से बाहर निकलने के लिए जगह ही नहीं मिली और पहाड़ पर भाग गए।
फिर धरा आरोपी को...
पहाड़ी की घेराबंदी के दौरान पुलिस ने एक आरोपी निम्बज निवासी प्रभुसिंह पुत्र भीमङ्क्षसह राजपूत को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से लूटा गया टेम्पो बरामद किया। साथ ही आरोपी की निशानदेही पर लूट में प्रयुक्त कार भी जब्त की। अन्य लुटेरे कार को वहीं छोड़कर पहाड़ी क्षेत्र में भाग गए। उनकी तलाश में अलग-अलग टीमें गठित कर पहाड़ी क्षेत्रों में भेजी गई हैं।
जैसा कि चालक ने पुलिस को बताया
चालक जतिनभाई ने पुलिस को बताया कि वह और उसका दोस्त कमरूदीन दोनों रास्ते में खाना खाकर तड़के चार बजे अनापुर गांव से पहले जसवन्तपुरा की तरफ एक होटल के आगे पहुंचे ही थे कि वहां एक कार के पास कुछ युवक खड़े मिले। उन्होंने टेम्पो रुकवाया। फिर सभी ने हमें घेरा और चालक सीट से पकड़ कर नीचे उतारा और लोहे के सरिये, लाठी, घुसों से अंधाधुंध मारपीट करने लगे। मेरा साथी कमरूदीन घबराकर पास की गाड़ी में छिप गया। मैं उनसे हाथ जोड़कर विनती करता रहा कि मुझे मत मारो, मैं बाहर का हूं लेकिन उन्होंने मेरी एक नहीं सुनी। इन्होंने मेरी जेब में रखे पर्स से करीब 13 हजार रुपए और गाड़ी के कागजात लूट लिए। फिर हमें कार बिठाकर जंगल में घायल अवस्था में छोड़कर टेम्पो भी लूटकर ले गए। फिर सुबह लोगों की मदद से पुलिस को सूचना दी और बताया कि
आरोपी आपस में अपना नाम गोटु दादा, लालसा, प्रभुसा इत्यादी नाम से पुकार रहे थे।

Bharat kumar prajapat
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned