scriptWhy this tournament named "Ashes", know this interesting story | क्यों रखा गया इस टूर्नामेंट का नाम "एशेज" जानिए इस दिलचस्प किस्से के बारे में,दोनों टीमों में किसका पलड़ा रहा है भारी,देखिए आंकड़े | Patrika News

क्यों रखा गया इस टूर्नामेंट का नाम "एशेज" जानिए इस दिलचस्प किस्से के बारे में,दोनों टीमों में किसका पलड़ा रहा है भारी,देखिए आंकड़े

एशेज सीरीज का नाम एशेज क्यों रखा गया इसके पीछे एक दिलचस्प किस्सा है। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच 1882 में टेस्ट सीरीज खेली जा रही थी, जिसमें ओवल के मैदान में होने वाले इस टेस्ट में इंग्लैंड जीता हुआ मुकाबला हार गया था। जिसके बाद ब्रिटिश मीडिया ने इस हार को बर्दाश्त न कर पाने के कारण लिखा था- इंग्लैंड में क्रिकेट की मौत हो चुकी है। उसकी चिता जलाने के बाद राख विजेता टीम आस्ट्रेलिया अपने साथ ले जा रही है। इसी सीरीज के बाद इंग्लैंड टीम ने ऑस्ट्रेलिया के साथ होने वाले सभी मुकाबले को इंग्लैंड के सम्मान के साथ जोड़ दिया।

नई दिल्ली

Published: December 07, 2021 12:55:56 pm

टेस्ट क्रिकेट का शुरुआत 1877 में इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुए मुकाबले से हुआ था। क्रिकेट के शुरुआती दिनों की अगर बात की जाए तो ज्यादातर मुकाबले इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच ही खेले जाते थे। इसके पीछे कारण यह था कि तब क्रिकेट की लोकप्रियता इतनी नहीं हुआ करती थी। लगभग 150 सालों से ये दोनों देश एक दूसरे के चिर प्रतिद्वंदी बने हुए हैं।
the_ashes.jpg
इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच 1882 में टेस्ट सीरीज खेली जा रही थी, जिसमें ओवल के मैदान में होने वाले इस टेस्ट में इंग्लैंड जीता हुआ मुकाबला हार गया था। जिसके बाद ब्रिटिश मीडिया ने इस हार को बर्दाश्त न कर पाने के कारण लिखा था- इंग्लैंड में क्रिकेट की मौत हो चुकी है। उसकी चिता जलाने के बाद राख विजेता टीम आस्ट्रेलिया अपने साथ ले जा रही है। इसी सीरीज के बाद इंग्लैंड टीम ने ऑस्ट्रेलिया के साथ होने वाले सभी मुकाबले को इंग्लैंड के सम्मान के साथ जोड़ दिया।
ashes_pic.jpgक्या कहते हैं एशेज के आंकड़े

सन 1882 से अब तक इस सीरीज में 334 बार इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के टीम एक दूसरे के आमने सामने आ चुके हैं। जिसमें इंग्लैंड ने 106 और ऑस्ट्रेलिया ने 134 मैच में जीत दर्ज किया है। बाकी 90 मैच ड्रॉ पर छूटे हैं। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच एशेज के कुल 70 सीरीज खेले गए हैं। जिसमें दोनों टीमों का प्रदर्शन लगभग बराबर रहा है।33 बार ऑस्ट्रेलिया ने तो 32 बार इंग्लैंड ने इसे अपने नाम किया है। एशेज सीरीज की मेजबानी इंग्लैंड ने 35 बार की है। इस दौरान हुए 163 मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने 48 व मेजबान इंग्लैंड ने 50 मैच में जीत दर्ज की।
एशेज सीरीज में सबसे ज्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड शेन वार्न के नाम है जिन्होंने 195 विकेट लिए हैं ।दूसरे नंबर पर नाम आता है ग्लेन मैकग्रा का जिनके नाम 157 विकेट है। इसके बाद ट्रंबल का नाम है जिन्होंने 141 विकेट झटके। चौथे नंबर पर डेनिस लिली है जिन्होंने 128 विकेट अपने नाम किये। पांचवें नंबर पर नाम आता है इयान बाथम का जिन्होंने 128 विकेट लिए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां

बड़ी खबरें

Mizoram Earthquake: मिजोरम में महसूस किए गए भूकंप के झटके, रिक्टर पैमाने पर रही 5.6 तीव्रताराष्ट्रीय युद्ध स्मारक में विलय की गई अमर जवान ज्योति की लौ; देखें VIDEO'हिजाब' पर कर्नाटक के शिक्षा मंत्री के बयान पर बवाल! जानिए क्या है पूरा मामलाक्या सच में बुझा दी गई अमर जवान ज्योति? केंद्र सरकार ने दिया जवाबदिल्ली उपराज्यपाल ने आप सरकार के प्रस्ताव को किया खारिज, वीकेंड कर्फ्यू हाटने और प्रतिबंधों में ढील से इनकारIND vs SA: मायूस विराट कोहली के चेहरे पर आई खुशी, ऋषभ पंत का सिक्स देखकर करने लगे डांसतत्काल पैसों की जरुरत है? तो जानिए वो 25 बैंक जो दे रहे हैं सबसे सस्ता Personal Loanराजस्थान सरकार ने की किसान परिवार के हित की बात, जानें क्या है मामला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.