नौकरी के लिए घर ले गए थे पति-पत्नी, फिर दोस्त के साथ मिलकर...

Sarveshwari Mishra

Publish: Nov, 15 2017 08:17:17 AM (IST)

Varanasi, Uttar Pradesh, India
नौकरी के लिए घर ले गए थे पति-पत्नी, फिर दोस्त के साथ मिलकर...

पीड़ि‍त लड़की का कहना है कि नौकरी की तलाश में मैं एक अक्टूबर को वाराणसी आए थी।

वाराणसी. नौकरी की तलाश में वाराणसी आई एक युवती को नौकरी का झांसा देकर उसका गैंगरेप कर दिया। युवती अब तक इंसाफ की गुहार के लिए पुलिस स्टेशन का चक्कर लगा रही है। लड़की के साथ एक पति-पत्नी ने अपने दोस्त के साथ मिलकर गैंगरेप किया। इतना ही नहीं युवती को जिस्‍मफरोशी के दलदल में धकेलने की कोशिश भी की गई। पुलिस का कहना है कि मामलें में तीनों आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। तलाश जारी है, फिलहाल अभी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

 

 


नौकरी का झांसा देकर लड़की को घर ले गए थे पति और पत्नी
पीड़िता का कहना है कि पीडि़ता के मुताबिक बीते एक अक्‍टूबर को वो नौकरी की तलाश में वाराणसी आई थी। दिन भर भटकने के बाद जब उसे काम नहीं मिला तो वो शाम को बस स्‍टैंड आ गई और घर जाने के लिए बस का इंतजार करने लगी। इसी दौरान कार से महिला निम्मी और उसका पति मनोज जायसवाल आए, उन्होंने कहा- बहुत परेशान हो बेटी, क्या बात है।

 

 

पीड़ि‍त लड़की का कहना है कि नौकरी की तलाश में मैं एक अक्टूबर को वाराणसी आए थी। दिन भर काम तलाशने के बाद अगले दिन दोपहर में बस पकड़ने के लिए जा रही थी। रास्ते में कार से महिला निम्मी और उसके पति मनोज जायसवाल आए, उन्होंने कहा- बहुत परेशान हो बेटी, क्या बात है। मैंने उन्हें अपनी तकलीफ बताई। उन्होंने कहा, खाना बना लेती हो न, 12 हजार का काम मिल जाएगा। मनोज ने कहा कि तुमको दोस्तों के घर खाना बनाने और घर संभालने के लिए लगवा दूंगा। वह मुझे घर पर ले गए। मेरे बगल के कमरे से कुछ और लड़कियों-लड़‍कों की आवाजें भी आती रहती थीं।

 

 

अगले दिन 3 अक्टूबर को संदीप नाम का लड़का आया। मुझे प्रॉस्टिट्यूशन के लिए तैयार होने को कहा गया। कहा कि रोज 10 से 12 हजार रुपए कमाओगी, बस कस्टमर को खुश और संतुष्ट कर देना। मना करने पर तीनों ने मारपीट की और रात में मनोज और संदीप ने बारी-बारी से मेरा रेप किया। इसका उन्होंने वीडि‍यो भी बनाया। इसके बाद घर में बंद कर दिया। 5 अक्टूबर को दोनों नशे की हालत में घर पर थे। मैंने मौका पाकर धीरे से गेट खोला और भाई गई। तब से थाने का चक्कर लगा रही थी। इसके बाद 16 अक्टूबर को मुकदमा दर्ज हुआ। एसओ आशुतोष तिवारी ने बताया 323 ,341 ,506 और 376 आईपीसी की धारा में मुकदमा तीनो के खिलाफ दर्ज है। गिरफ़्तारी अभी नहीं हुई है।

1
Ad Block is Banned