सरकारी आदेश के फेर में फंसी 10 हजार मुर्गियां

सरकारी आदेश के फेर में फंसी 10 हजार मुर्गियां
अजमेर विकास प्राधिकरण

bhupendra singh | Publish: Aug, 24 2019 07:25:14 PM (IST) Ajmer, Rajasthan, India

एडीए का फरमान, पशुपालन विभाग कराए मुर्गियों का विस्थापन
लोकायुक्त तथा एसडीएम अजमेर ने दे रखे हैं पोल्ट्रीफार्म हटाने के आदेश

एक निजी व सरकारी स्कूल के ब"ाों के स्वास्थ्य पर पड़ रहा विपरीत असर

 

अजमेर. गेगल में एक पोल्ट्रीफार्म (poultry farm) को हटाने का मामला विभिन्न सरकारी विभागों के बीच फुटबॉल बन गया है। अजमेर एसडीएम (sdm) ने प्रेसीडेंसी स्कूल के ब‘चों के स्वास्थ्य पर विपरीत असर को आधार बनाते हुए पोल्टीफार्म को बंद करने के आदेश(order) दिए हैं। पोल्ट्रीफार्म हटाने का जिम्मा अजमेर विकास प्राधिकरण (ada) को सौंपा गया है। प्राधिकरण ने फार्म में पल रही 10 हजार मुर्गियों (10 thousand chickens) की व्यवस्था करने के लिए पशुपालन विभाग को पत्र लिखा है। उधर पशुपालन विभाग के पास एेसा कोई बजट व व्यवस्था नहीं है। एेसे में पोल्ट्रीफार्म का यह मुद्दा प्रशासन के लिए जी का जंजाल बन गया है। फार्म को बलपूर्वक बंद करने पर उन 10 हजार मुर्गियों के लिए रहने व खाने की व्यवस्था करनी होगी। यह व्यवस्था कौन व कैसे करेगा इसका जवाब फिलहाल एसडीओ, एडीए व पशुपालन विभाग के पास नहीं है। यह पोल्ट्रीफार्म का मामला लोकायुक्त में भी चल रहा है। लोकायुक्त के आदेश के बाद ही एडीए इसे बंद कराने की तैयारी में है। एडीए पोल्ट्रीफार्म संचालक को फार्म बंद करने के लिए कई बार नोटिस जारी कर चुका है। एडीए के अनुसार यह पोल्ट्रीफार्म बिना स्वीकृति के संचालित है। trapped in government order

इस तरह चला घटनक्रम

प्रेसीडेंसी स्कूल ने जिला प्रशासन को पत्र लिखकर पास में जन्नत पत्नी फकरुद्दीन के पोल्ट्री फार्म से मक्खियां, दुर्गंध एव ब"ाों के स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव की शिकायत की। इस पर उपखंड अध्ािकारी न्यायालय ने पोल्ट्री फॉर्म बंद कर मुर्गियों को अन्यत्र स्थानांतरित करने के आदेश दिए। फार्म संचालक ने अन्यत्र व्यवस्था नहीं होने की बात कहकर मुर्गियों को हटाने से इनकार कर दिया। एडीए को फार्म हटाने का जिम्मा सौंपा गया तो उसने पशुपालन विभाग को पत्र लिखकर कहा कि मुर्गियों को जब्त कर उनके रहने खाने की व्यवस्था की जाए।
प्रदूषण बोर्ड ने झाड़ा पल्ला

लोकायुक्त के निर्देश पर राजस्थान रा’य प्रदूषण मंडल ने पोल्ट्रीफार्म का निरीक्षण किया। इस दौरान सामने आया कि फार्म का संचालन गाइड लाइन के अनुसार नहीं किया जा रहा है। पोल्ट्रीफार्म के 500 मीटर के दायरे में रिहायशी क्षेत्र नहीं होना चाहिए, जबकि यह स्कूल की दीवार से जुड़ा है। पोल्ट्रीफार्म को अन्यत्र स्थानांतरित करने के लिए स्थानीय निकाय विभाग को निर्देशित किया जाए।

इनका कहना है

स्कूल के पास ही सरकारी स्कूल भी है। स्कूल पहले बने हैं पोल्ट्रीफार्म का निर्माण बाद में हुआ है। इससे ब"ाों को परेशानी होती है। लोकायुक्त, एसडीएम, प्रदूषण बोर्ड पोल्ट्रीफार्म बंद करने के निर्देश दे चुके हैं। आदेशों की पालना नहीं हो रही है। जिला कलक्टर सहित सभी को पुन: शिकायत दी गई है।
योगेश चन्द्र शर्मा, एडमिनिस्ट्रेटिव ऑफिसर, प्रेसीडेंसी स्कूल

पोल्टीफार्म के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई के लिए पशुपालन विभाग को लिखा गया है। कार्यवाही उन्हें ही करनी है।
हाकम खान (उपायुक्त) किशनगढ़, एडीए

read more: Murder mystery: पहले पत्नी को सुलाया और फिर खुद भी सो गया मौत की नींद,पढ़ें पूरी खबर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned