अरांई में कफ्र्यू : वृद्ध के कोरोना पॉजिटिव आते ही प्रशासन के फूले हाथ-पांव

तहसील मुख्यालय अरांई से सटी मालपुरा, किशनगढ़ व सरवाड़ क्षेत्र की सीमाएं सील,गली-मोहल्ले, चौराहे और सडक़ मार्ग पर रातोंरात दवा का छिडक़ाव,गुरुवार रातभर प्रशासन की दौड़ती रही गाडिय़ां

By: suresh bharti

Updated: 18 Apr 2020, 02:12 AM IST

ajmer अजमेर. जिले के अरांई तहसील मुख्यालय पर एक वृद्ध के कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आते ही प्रशासन में हडकंप मच गया। वृद्ध के सम्पर्क में आए सात परिजन को प्रशासन ने फिर से क्वारंटाइन में भेज दिया। वृद्ध को गहन चिकित्सा निगरानी में रखा है।

इस वृद्ध को बेटी-दामाद 10 अप्रेल को उज्जैन से अरांई लेकर आए थे। तभी अरांई के राजकीय अस्पताल के चिकित्सक ने होम आइसोलेट की सलाह दी थी। बाद में रेंड सैम्पलिंग जांच में वृद्ध की रिपोर्ट पॉडिटिव आई। इसकी जानकारी मिलते ही प्रशासन ने गुरुवार रात ही मोर्चा संभाल लिया। रातभर प्रशासन की गाडिय़ां किशनगढ़ और अरांई के बीच दौड़ती रही। प्रशासन ने रात को ही अरांई के सभी गली-मोहल्लों,चौराहे, प्रमुख सडक़ मार्ग व युवक के मकान पर सोडियम हाइपोक्लोराइट का छिडक़ाव करना शुरू कर दिया जो शुक्रवार सुबह तक जारी रहा।

लोग गहरी नींद में सोते रहे,उधर...

वृद्ध की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आते ही प्रशासन ने बचाव व राहत कार्य तेजी से शुरू करा दिए। इस दौरान अरांई की अधिकतर जनता रात को गहरी नींद में सोई हुई थी। तडक़े लोगों की नींद खुली तो कस्बे का नजारा ही बदला हुआ था। जगह-जगह बेरिकेटिंग लगने, पुलिस बल के तैनात होने तथा माइक से कफ्र्यू लगाने की जानकारी देने के बाद अरांई क्षेत्र के लोग सावचेत हो गए।

प्रशासन ने तडक़े ही कफ्र्यू की घोषणा कर दी थी। अरांई की सभी सीमाएं सील मुख्य मार्ग की सडक़ को खोदकर खाई बना दी गई तो कहीं पुलिस का सख्त पहरा लगा रहा। कोरोना महामारी को रोकने केे लिए उप जिला मस्ट्रिेट एवं एसडीओ देवेंद्र कुमार ने अरांई के तेली मोहल्ला, कोठारी मोहल्ला, सदर बाजार, आचार्य मोहल्ला, बांडी का मोहल्ला (दरवाजा) एवं आस पास के क्षेत्रों में निशेधाज्ञा लागू करने के आदेश जारी कर दिए।

मानवीय संवेदनाएं जगाकर बनाया पास

युवक अपनी सास को कार से लेने उज्जैन गया था। इसके लिए तहसीलदार ने वाहन का एकतरफा पास जारी किया था,लेकिन युवक ने चालाकी से वहां से वापसी का भी पास बनवा लिया। अरांई से उज्जैन जाने के लिए यह बताया था कि उसकी सास छत से गिर गई है। नाक से खून बह गया। वह मानसिक बीमार है। इसके चलते तहसीलदार ने इमरजेंसी मेडिकल पास जारी कर दिया था।

जांच रिपोर्ट आने के बाद मची खलबली

उज्जैन से सात सदस्यों के अरांई लौटने पर सभी को होम क्वारंटाइन पर रख दिया गया था। इनमें से वृद्ध की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद प्रशासन ने सतर्कता बरतनी शुरू कर दी। वृद्ध के सम्पर्क में आने वालों की चिकित्सा जांच की जा रही है।

suresh bharti Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned