बाढ़ प्रभावित इलाकों का असर : नारियल और फूलों के भाव में उछाल

बाढ़ प्रभावित इलाकों का असर : नारियल और फूलों के भाव में उछाल

Suresh Bharti | Updated: 15 Aug 2019, 01:43:52 AM (IST) Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

रक्षाबंधन पर्व पर महंगे दाम में मिल रहे नारियल और फूल-मालाएं, खपत के हिसाब से आपूर्ति पूरी नहीं होने से बढ़ाए भाव, बारिश का पानी कम होने के बाद नए माल की सप्लाई से भाव कम होने की उम्मीद

अजमेर. रक्षाबंधन पर नारियल,खोपरा,फूल तथा अन्य सामग्री के दाम बढ़ गए। इसकी वजह केरल,कर्नाटक,महाराष्ट्र,आंध्रप्रदेश सहित अन्य राज्यों में बाढ़ है। तेज बारिश के चलते इन क्षेत्रों में काफी नुकसान पहुंचा है।

ताजा माल नहीं आने से स्टॉक खाली हो गया। बाढ़ का असर केला व अन्य फलों पर भी पड़ा है। बीते कुछ दिनों में प्रति नारियल जहां 15 से 25 रुपए तक पहुंच गया है। वहीं मालाओं के भाव भी उछाल पर है। दूसरी ओर

केरल में आई बाढ़ से नारियल की आवक प्रभावित हुई है। वहीं दक्षिण भारत के अन्य कई राज्यों में भी बाढ़ के हालात से वहां से नारियल की आवक नहीं हो रही है। इसके चलते स्टॉक कम हो गया। नारियल थोक में 12 सौ रुपए बोरी से 1550 रुपए बोरी पहुंच गया है।

त्यौहारों की मांग से भी नारियल के भाव बढ़े हैं। बाढ़ का असर कम होने पर नारियल का नया स्टॉक आएगा। उसके बाद भावों में नरमी आ सकती है।

वहीं महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश और उत्तरप्रदेश में तेज बारिश के चलते फूलों की खेती को बड़ा नुकसान हुआ है। इसके चलते आवक प्रभावित हुई है।

बीते एक पखवाड़े में कई फूलों के भाव दोगुने से कहीं ज्यादा बढ़ गए है। कई फूल से 50 रुपए किलो से 150 रुपए तक पहुंच गए है। मोगरा, गेंदा सहित अन्य फूल महाराष्ट्र, एमपी और यूपी से आते है। इनमें से केसरिया गेंदा 40 से 140, पीला गेंदा 50 से 140 और मोगरा 250 से ४५० रुपए किलो पहुंच गया है। वहीं पुष्कर से आने वाले गुलाब की कीमत भी बढ़ी है।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned