राजस्थान में मानवता फिर हुई शर्मसार, नाबालिग को बंधक बना 3 महीने तक किया गैंगरेप

राजस्थान में मानवता फिर हुई शर्मसार, नाबालिग को बंधक बना 3 महीने तक किया गैंगरेप
rape

rohit sharma | Updated: 27 Apr 2018, 07:29:42 PM (IST) Ajmer, Rajasthan, India

राजस्थान में मानवता फिर हुई शर्मसार, 3 महीने से बंधक बनाकर नाबालिग के साथ किया गैंगरेप

अजमेर।

प्रदेश में बढ़ते रेप के मामले थम नहीं रहें हैं साथ ही कुछ ऐसे मामले भी सामने आ रहे है जो मानवता को शर्मसार कर देंगे। मांगलियावास थाना क्षेत्र के ब्रिकचियावास गांव में 15 वर्षीय अनाथ किशोरी के साथ दो सगे भाइयों द्वारा अगुवाकर पिछले साढ़े तीन महीने से बंधक बनाकर गैंगरेप करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। मांगलियावास पुलिस ने आरोपित दोनों सगे भाइयों को शुक्रवार को गिरफ्तार कर पीसांगन चिकित्सालय में मेडिकल मुआयना करवाया। पुलिस आरोपित दोनों सगे भाइयों को शनिवार को न्यायालय में पेश करेगी।

 

मांगलियावास पुलिस के अनुसार गत 29 दिसंबर को ब्रिकचियावास निवासी 15 वर्षीय नाबालिग पीड़िता अपनी मां की मौत के 13 वें दिन जंगल में बकरियां चराने गई थी एवं उसका एक अदद रखवाला 5 वर्षीय भाई व 75 वर्षीय दादी मां घर पर अकेली थी और बड़ी बहन ससुराल गई हुई थी।

 

उसी दौरान लीड़ी निवासी दो बच्चों का बाप 27 वर्षीय आरोपित आत्माराम पुत्र हरदेव भांबी जंगल में पीड़िता के पास पहुंचा और नाबालिग किशोरी को डरा-धमकाकर बाइक पर बैठाकर ब्यावर के पास पिपलाज रीको इंडस्ट्रीज एरिया में लेकर चला गया।

 

पुलिस ने बताया कि आरोपित आत्माराम भांबी पिपलाज में अपने 22 वर्षीय छोटे भाई शिवराज के साथ वहां पर किसी फैक्ट्री में मजदूरी करता था व रात्रि विश्राम दोनों भाई वहां पर इनके द्वारा किराये पर लिए गए कमरे में करते थे। जहां पर इन दोनों भाइयों ने पीड़िता को डरा धमका कर बंधक बनाकर रखा गया एवं दोनों भाई उसी कमरे में एक साथ मानवता को शर्मसार करते हुए नाबालिग किशोरी के साथ पिछले साढ़े तीन महीने से गैंग रेप करते रहे।

 

जब घटना वाले दिन पीड़िता शाम को घर नहीं लौटी तो उसके रिश्ते में चाचा ने पीड़िता की हर जगह तलाशी की और जब पीड़िता का कहीं अता-पता नहीं लगा। तब चाचा ने थक हारकर गत 8 जनवरी को मांगलियावास थाने में अपनी भतीजी के अचानक गायब होने की रिपोर्ट दर्ज करा दी।

 

इस दौरान गत 24 अप्रैल को पीड़िता के परिजनों को ब्यावर के पिपलाज रीको इंडस्ट्रीज एरिया में स्थित गजेंद्र फैक्ट्री के चौकीदार बबलू ने दूरभाष पर सूचना दी की लीड़ी निवासी दो सगे भाई एक नाबालिग किशोरी को डरा धमका रहे हैं और उसके साथ मारपीट कर रहे हैं।

 

इस पर पीड़िता के परिजन एएसआई सोहनलाल काठात व महिला कांस्टेबल मीना कंवर के साथ पीपलाज पहुंचे। जहां से किशोरी को बरामद कर परिजनों के साथ थाने लाया गया। जहां पर पीड़िता ने हकीकत बयां करते हुए बताया कि उस दिन आत्माराम जंगल में जब वह बकरियां चरा रही थी। तब उसको डरा-धमकाकर कर बाइक पर बैठाकर पिपलाज इंडस्ट्रीज एरिया में जबरदस्ती उठाकर लेकर चला गया और किराए के रूम में बंधक बनाकर रखते हुए उसके छोटे भाई शिवराज और आत्माराम ने उसके साथ पिछले साढ़े 3 महीने से लगातार गैंग रेप किया।

 

साथ ही उसे धमकी दी की किसी को बताने पर उसको उसके छोटे भाई व दादी को जान से मार देंगे। जब पुलिस ने पीपलाज में दबिश दी। उस दौरान आरोपित दोनों भाई मौके से फरार हो गए। जिन को डिप्टी ग्रामीण राजेश वर्मा की अगुवाई मे पुलिस दल ने आज मुखबिर की इत्तला पर लीडी दबिश देकर गिरफ्तार किया। पुलिस ने दोनो आरोपियो का पीसांगन चिकित्सालय में आरोपितों का मेडिकल मुआयना करवाया गया।

 

वहीं पुलिस ने नाबालिग पीड़िता का मेडिकल मुआयना करवाते हुए न्यायालय में बयान कलमबद्ध करवा दिए है। पुलिस आरोपित दोनों सगे भाइयों को शनिवार को न्यायालय में पेश करेगी। आरोपितों का पीसांगन अस्पताल में मेडिकल मुआयना करवाने के दौरान एएसआई सोहनलाल काठा कांस्टेबल जगदीश अजीत व भागचंद भी मौजूद रहे। मामले में पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ मारपीट, अपहरण, बलात्कार व अन्य धाराओ मे मामला दर्ज कर मामले की तफ्तीश में जुटी हुई है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned