पत्रिका मुद्दा : स्मार्टसिटी अजमेर को चाहिए एक चिल्ड्रन पार्क

स्मार्टसिटी में नहीं चिल्ड्रन पार्क की योजना, बच्चों को खेलने के लिए नहीं है अलग से पार्क, सुविधाओं के साथ सुरक्षा के भी हों प्रबंध



अजमेर. अजमेर शहर में सरकारी उपक्रम की ओर से एक भी चिल्ड्रन पार्क विकसित नहीं किया गया है। अजमेर उत्तर एवं दक्षिण विधानसभा क्षेत्रों में चिल्ड्रन पार्क को लेकर कभी कोई प्रयास भी नहीं किए गए। ऐसे में बच्चों को खेल सुविधाओं के साथ मनोरंजन के संसाधन उपलब्ध कराने के लिए चिल्ड्रन पार्क आज अजमेर की प्राथमिकता है।

स्मार्टसिटी बन रहे अजमेर शहर में कहने को अधिकतर कॉलोनियों में पार्क हैं। इन पार्कों को भी कई समितियों की ओर से विकसित भी किया जा रहा है, मगर बच्चों के लिए खेलने को लेकर किसी तरह का ध्यान नहीं दिया जा रहा है। कॉलोनियों में कहीं भी अलग से चिल्ड्रन पार्क विकसित नहीं किया गया है, जहां शहर के छोटे-छोटे बच्चों को एक साथ खेलते, मनोरंजन करते, झूलते देखा जा सकता है।

पार्कों में झूले लगाकर इतिश्री

पार्कों में बच्चों के मनोरंजन के लिए सिर्फ झूले लगाकर इतिश्री कर दी जाती है। मगर विडम्बना यह है कि ये झूले भी दिनभर तालों में बंद रहते हैं, जिनका बच्चे लाभ नहीं उठा पाते हैं।

ऐसे हो चिल्ड्रन पार्क

शहर में कम से कम एक ऐसा चिल्ड्रन पार्क विकसित किया जाना चाहिए, जहां जू हो, झूलों की व्यवस्था हो, अलग-अलग फूलों के बगीचे हों, बच्चों के लिए पार्क में ही टॉय ट्रेन, नौकायन आदि की सुविधा मिले। बड़े क्षेत्रफल में बच्चों को खेलने की जगह उपलब्ध हो, बच्चों को आइस्क्रीन, खाने-पीने की स्टॉल भी पार्क में उपलब्ध हो। बच्चों के साथ माताओं की एंट्री हो। सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था हो। खेलने के लिए पार्क में फुटबॉल, बॉल, रैकेट आदि की सुविधा हो।

करोड़ों की योजनाओं में नहीं चिल्ड्रन पार्क की थीम

स्मार्टसिटी के तहत करोड़ों रुपए की योजनाएं मंजूर होने के साथ धरातल पर उतरने भी लगी है। इसके तहत नए पार्क भी विकसित किए जाने हैं, इनके लिए सर्वे एवं क्षेत्र चिह्नित भी किए जाने हैं मगर अभी तक चिल्ड्रन पार्क की थीम को लेकर किसी का ध्यान नहीं गया है।

इन शहरों में चिल्ड्रन पार्क

जयपुर. जोधपुर, कोटा, उदयपुर सहित कई जगह चिल्ड्रन पार्क विकसित हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned