पुलिसकर्मियों को साप्ताहिक अवकाश योजना खटाई में

कम स्टाफ से कामकाज पर असर : आदर्श नगर और रामगंज थाना में किया गया था प्रयोग

 

By: himanshu dhawal

Published: 08 Dec 2019, 12:25 PM IST

रतिम तिवारी .अजमेर.

पुलिसकर्मियों की साप्ताहिक अवकाश व्यवस्था ज्यादा कामयाब नहीं हो पाई है। प्रायोगिक तौर पर रामगंज और आदर्शनगर थाना में व्यवस्था शुरू हुई, लेकिन नतीजे बेहतर नहीं रहे। लिहाजा अन्य थानों में इसे लागू नहीं किया गया है।
कामकाज के बढ़ते बोझ, व्यस्तता और अपराध नियंत्रण की चुनौतियों से पुलिसकर्मी भी तनावग्रस्त रहने लगे हैं। लगातार कामकाज से कई पुलिसकर्मियों की सेहत भी ठीक नहीं है। मानसकि तनाव, चिड़चिड़ापन भी बढ़ रहा है। इसके अलावा पुलिसकर्मियों को अवकाश भी आसान से नहीं मिलते हैं। इसको ध्यान में रखते हुए पुलिस मुख्यालय ने पुलिसकर्मियों को साप्ताहिक अवकाश देने की योजना बनाई थी।

निरस्त की भी थी शर्त

रामगंज और आदर्श नगर थाना में प्रायोगिक तौर पर पुलिसकर्मियों को साप्ताहिक अवकाश देना तय हुआ था। इसमें कहा गया था कि अति विशिष्ट और विशिष्ट व्यक्तियों के दौरे, कोई गंभीर घटनाक्रम होने की स्थिति में अवकाश निरस्त किया जा सकता है। शुरुआत में व्यवस्था ठीक रही, लेकिन बाद में परेशानियां बढ़ गई। खासतौर पर सीमित स्टाफ और कार्यालय और अनुसंधान कार्य में दिक्कतें होने लगी। लिहाजा प्रयोग कामयाब नहीं हुआ। पुलिस ने इसे करीब चार-पांच माह पहले इसे स्थगित कर दिया।
बीपीआरडी का था ये सर्वे

ब्यूरो ऑफ पुलिस रिसर्च एवं डवेपलमेंट ने देश के 23 राज्यों में सर्वे किया था। इसमें 319 जिलों के 12 हजार 156 पुलिसकर्मियों, 1003 थानाधिकारियों और 962 पर्यवेक्षक अधिकारियों को शामिल किया गया। इसमें यह सामने आया कि 90 प्रतिशत पुलिसकर्मी 8 घंटे से ज्यादा ड्यूटी करते हैं। 73 प्रतिशत पुलिसकर्मियों को महीने में एक दिन की छुट्टी भी नहीं मिलती। इस रिपोर्ट के बाद उत्तरप्रदेश, पश्चिम बंगाल, उत्तराखंड सहित कई राज्यों में पुलिसकर्मियों ने साप्ताहिक अवकाश की मांग की थी।

केरल में प्रयोग सफल
केरल में पुलिसकर्मियों को साप्ताहिक अवकाश देने की व्यवस्था शुरू हो चुकी है। इसके बेहतर नतीजे सामने आए हैं। आठ घंटे की ड््यूटी और अवकाश मिलने से पुलिसकर्मियों को फायदा हुआ है। पुलिसकर्मियों के स्वास्थ्य, पारिवारिक और सामाजिक संबंधित परेशानियां कम हुई हैं।

फैक्ट अजमेर जिले में पुलिस स्टाफ

पुलिस महानिरीक्षक-1

पुलिस अधीक्षक-1
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक-5

पुलिस उप अधीक्षक-16
पुलिस निरीक्षक-41

उप निरीक्षक-134
सहायक निरीक्षक-255

हैड कांस्टेबल-684
कांस्टेबल-2578

इनका कहना है

प्रायोगित तौर पर साप्ताहिक अवकाश व्यवस्था शुरू की गई थी। फिलहाल इसकी समीक्षा की जा रही है।

-कुंवर राष्ट्रदीप, पुलिस अधीक्षक अजमेर

himanshu dhawal Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned