protest : गुस्साए ग्रामीणों ने हाइवे पर इसलिए लगाया जाम,किया प्रदर्शन

Preeti Bhatt

Updated: 10 Dec 2019, 12:19:11 PM (IST)

Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

अजमेर/सरवाड़. ग्राम जावला व सूरजपुरा के ग्रामीणों ने सोमवार को परिसिमन के तहत जावला को दरकिनार कर ग्राम चांदमा को नई पंचायत बनाने के विरोध में सरवाड़ में उपखंड कार्यालय के सामने प्रदर्शन किया और पास ही स्थित अजमेर-कोटा हाइवे जाम कर दिया। ग्रामीणों ने पूर्व में विरोध में उपखंड प्रशासन को ज्ञापन दिया था। इस पर सुनवाई नहीं होने पर सोमवार दोपहर दोनों गांवों से बड़ी संख्या में स्त्री-पुरुष सरवाड़ पहुंच गए और उपखंड कार्यालय के सामने जमकर प्रदर्शन किया। इसके बाद दोपहर करीब तीन बजे राजमार्ग जाम कर धरने पर बैठ गए। इससे मार्ग के दोनों ओर वाहनों की कतारें लग गई।

Read More: Amendment : मतदाता सूचियों में संशोधन शुरू.......देखें वीडियो

कई रोडवेज बसें भी जाम में फंस गई और यात्री परेशान होते रहे। इधर पुलिस ने हाइवे जाम करने के आरोप में सात नामजद सहित 30 अन्य के खिलाफ मामाला दर्ज किया है। उपखंड अधिकारी तारामती वैष्णव तथा पुलिस अधिकारी ने ग्रामीणों से समझाइश का प्रयास किया। लेकिन ग्रामीण जावला को पंचायत बनाने की मांग पर अड़े रहे। ग्रामीणों ने उपखंड अधिकारी को बताया कि नई पंचायत बनाने के तहत जावला सभी मापदंडों पर खरा उतरता है, फिर भी परिसिमन के नियमों की अनदेखी कर चांदमा को नई पंचायत बना दिया, जो अनुचित है। उपखंड अधिकारी ने जिला कलक्टर को भी मामले से अवगत कराया। उन्होंने विरोध प्रदर्शन कर रहे ग्रामीणों से कहा कि वे कानून आने हाथ में नहीं ले और समस्या को शांतिपूर्वक तरीके से रखें। मांग को सक्षम अधिकारी तक पहुंचाकर समस्या का समाधान निकाला जाएगा। काफी जद्दो-जहद के बाद ग्रामीण शाम करीब चार बजे रास्ते से हटे और जाम खोला।

Read More: Crime: मुखबिर की सूचना पर दो व्यक्तियों को पकड़ा , बैगों में भरकर ले जा रहे थे ये चीज़

अलग तहसील जाने को होंगे मजबूर
ग्रामीणों ने उपखंड अधिकारी को सौंपे ज्ञापन में बताया कि जावला में वार्ड और आबादी चांदना से अधिक है। इसके बावजूद चांदमा को पंचायत बनाकर उसमें ग्राम सूरजपुरा व जांवला को जोड़ दिया गया। जावला में उच्च माध्यमिक विद्यालय है एवं तहसील और उपखंड मुख्यालय सरवाड़ होने से दोनों स्थानों से दूरी भी कम है। जबकि ग्राम चांदमा टाटोटी तहसील में पड़ता है और जो उसका अंतिम गांव है। इसके चलते ग्रामीणों को कार्य के लिए अलग-अलग स्थानों पर जाना पड़ेगा।

Read More: पॉलीथिन मुक्त शहर बनाने में प्रशासन की नहीं रुचि

एबुलैंस और सेना के वाहन को निकाला

जाम के दौरान एक मरीज को लेकर निकल रही एबुलैंस व सेना के वाहनों को प्रदर्शनकारियों ने नहीं रोका और उन्हें निकलने दिया। जबकि रोडवेज सहित दूसरे वाहन जाम में फं से रहे। रोडवेज के यात्रियों ने ग्रामीणों से उन्हें निकलने देने की गुहार भी की, लेकिन ग्रामीण नहीं माने।

Read More: न मुकदमा न वकील फैसला "ऑन द स्पॉट"

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned