विद्यार्थियों ने बनाई पेरेंट-टीचर मीटिंग से दूरी

विद्यार्थियों ने बनाई पेरेंट-टीचर मीटिंग से दूरी
विद्यार्थियों ने बनाई पेरेंट-टीचर मीटिंग से दूरी

dinesh sharma | Updated: 13 Oct 2019, 02:16:16 AM (IST) Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

कॉलेज में हुआ अभिभावक संवाद कार्यक्रम, स्कूली बच्चों की तरह अभिभावकों को कॉलेज ले जाना उन्हें रास नहीं आया

अजमेर.

स्कूल की तर्ज पर पेरेंट-टीचर मीटिंग की योजना शनिवार को कॉलेज में ज्यादा कामयाब नहीं हुई। अधिकांश कॉलेज में 80 फीसदी से ज्यादा विद्यार्थी इससे दूर रहे। स्कूली बच्चों की तरह अभिभावकों को कॉलेज ले जाना उन्हें रास नहीं आया।

उच्च शिक्षा ने सत्र 2019-20 से प्रदेश के सभी कॉलेज में अभिभावक संवाद कार्यक्रम शुरू करने का फैसला किया है। शनिवार को पहला संवाद कार्यक्रम रखा गया था। इसमें छात्र-छात्राओं को परिजन के साथ पहुंचना था। सम्राट पृथ्वीराज चौहान राजकीय महाविद्यालय, राजकीय कन्या महाविद्यालय, लॉ कॉलेज सहित अन्य संस्थानों में यह कार्यक्रम हुआ।

कहीं 12 तो कहीं 40 परिजन

अधिकांश कॉलेज से छात्र-छात्राएं कार्यक्रम से दूर रहे। ज्यादातर छात्राएं और छात्र बिना अभिभावकों के कॉलेज पहुंचे। वे कैंटीन या चाय की थडिय़ों पर गपशप लड़ाते नजर आए।

कन्या महाविद्यालय में 20 छात्राओं के अभिभावक पहुंचे। कुर्सियों पर छात्राएं बैठी नजर आईं। लॉ कॉलेज में भी संख्या 11-12 ही रही। सम्राट पृथ्वीराज चौहान राजकीय महाविद्यालय में भी 30-40 अभिभावक ही पहुंचे।

नहीं पसंद आया प्रयोग

विद्यार्थियों को स्कूली बच्चों की तरह पेरेंट-टीचर मीटिंग का प्रयोग पसंद नहीं आया। 80 प्रतिशत विद्यार्थियों ने इसे तवज्जो नहीं दी। अलबत्ता जो छात्र-छात्राएं अपने अभिभावकों के साथ पहुंचे उनसे कॉलेज प्रशासन ने शैक्षिक विकास योजनाओं पर चर्चा की। मालूम हो कि कई कॉलेज ने इसके लिए पीले चावल भी बांटे थे।

ये हुआ पहली बैठक में

अभिभावकों को दिखाई कक्षाएं, लाइब्रेरी, प्रयोगशाला
बताया कक्षाओं, शैक्षिक और सह शैक्षिक कार्यक्रमों के बारे में
विद्यार्थियों की 75 प्रतिशत उपस्थिति नियम की दी जानकारी
परिजन ने लॉ कॉलेज की शहर से दूरी का दिया तर्क- परिजन ने कॅरियर और रोजगारोन्मुखी कोर्स की बताई जरूरत

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned