ACB Action- जेलर समेत तीन को किया गिरफ्तार

ACB Action- जेलर समेत तीन को किया गिरफ्तार
ACB Action- जेलर समेत तीन को किया गिरफ्तार

Manish Singh | Updated: 20 Sep 2019, 12:57:40 AM (IST) Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

बंदियों से सुविधा शुल्क वसूली प्रकरण-भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (स्पेशल यूनिट) ने सेंट्रल जेल में बंदियों से सुविधा शुल्क वसूली प्रकरण में बड़ी कार्रवाई करते हुए तत्कालीन जेलर समेत तीन जनों को गिरफ्तार किया है।

अजमेर. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (स्पेशल यूनिट) ने सेंट्रल जेल में बंदियों से सुविधा शुल्क वसूली प्रकरण में बड़ी कार्रवाई करते हुए तत्कालीन जेलर समेत तीन जनों को गिरफ्तार किया है। जेलर के अलावा गिरफ्तार दोनों व्यक्ति जेल के बाहर अपने खातों में सुविधा शुल्क ट्रांसफर कराने का काम करते थे।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (स्पेशल यूनिट) मदनदान सिंह ने बताया कि बुधवार रात अजमेर सेंट्रल जेल के तत्कालीन जेलर टोंक निवासी जसवंत सिंह को अजमेर सेन्ट्रल जेल में बंदियों से सुविधा शुल्क वसूली के मामले में भीलवाड़ा से गिरफ्तार किया। जसवंत सिंह अभी भीलवाड़ा में उपकारापाल पद पर तैनात है। वहीं बंदियों के परिजन से सुविधा शुल्क वसूली में सहयोगी करौली हिण्डौन सिटी हाल अजमेर वैशालीनगर निवासी अनिल चौधरी और सरवाड़ सुरसुण्डा निवासी राजेन्द्र सिंह को गिरफ्तार किया। अनिल और राजेन्द्र जेलर जसवंत सिंह के जरिए सजायाफ्ता कैदी शैतान सिंह के सम्पर्क में थे।

अब खुलेंगे राज
अनुसंधान अधिकारी पारसमल पंवार के मुताबिक सेन्ट्रल जेल बंदी प्रकरण में जेलर जसवंत सिंह के साथ में अनिल व राजेन्द्र सिंह की गिरफ्तारी के बाद प्रकरण से जुड़े कई राज सामने आने की उम्मीद है। बंदी शैतानसिंह और उसका भाई रमेश जेल में बंदियों को यातनाएं देकर सुविधा शुल्क वसूली करते थे। रकम की वसूली का कामकाज जेल के बाहर अनिल और राजेन्द्र करते थे। दोनों अपने बैंक खातों में बंदियों के परिजन से रकम ट्रांसफर कराते थे। वसूली की रकम को शैतान सिंह के अनुसार अलग-अलग खातों में ट्रांसफर करते थे।

एसीबी के पास कॉल रिकॉर्डिंग

जेलर जसवंत सिंह की अनिल व राजेन्द्र से मोबाइल पर नियमित बातचीत होती थी। एसीबी ने जसवंत सिंह के मोबाइल को सर्विलांस पर ले रखा था। इसमें अनिल व राजेन्द्र से हुई मोबाइल कॉल की पर्याप्त रिकॉर्डिंग मौजूद है। इसमें बंदियों के परिजन से लेन-देन का जिक्र भी है।

अब तक 12 गिरफ्तार

सेंट्रल जेल में एसीबी की ओर से 18 जुलाई को कार्रवाई में बंदियों से सुविधा शुल्क वसूली प्रकरण में 7 जनों को गिरफ्तार किया। इसमें जेल कर्मचारी संजय सिंह, कैसाराम, प्रधान बाना, अरुणसिंह चौहान, सजायाफ्ता बंदी दीपक उर्फ सन्नी, उसका भाई सागर व प्रवेश उर्फ पोलू को गिरफ्तार किया। इसके बाद 27 जुलाई को सजायाफ्ता बंदी शैतानसिंह व उसके भाई रमेश को प्रोडक्शन वारंट पर गिरफ्तार किया। गुरुवार को एसीबी ने जेलर जसवंत सिंह, बिचौलिए राजेन्द्र सिंह व अनिल चौधरी को गिरफ्तार किया। प्रकरण में अब तक 12 जनों की गिरफ्तारी हो चुकी है। एसीबी ने देर शाम तीनों को विशेष अदालत में पेश किया, जहां से उन्हें 23 सितम्बर तक न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned