Weather in ajmer: छिडक़ाव करते रहे बादल, धूप-छांव का दौर

औसत बरसात का आंकड़ा पार करने के लिए जिले को 120.14 मिलीमीटर बरसात की जरूरत है। जबकि शहर को सिर्फ 25 मिलीमीटर आवश्यकता है।

By: raktim tiwari

Published: 13 Aug 2019, 08:14 AM IST

अजमेर

बादल (clouds) मंगलवार सुबह से छिडक़ाव कर रहे हैं। पिछले दो-तीन दिन से शहर में कभी तेज तो कभी रिमझिम बौछारों का दौर जारी है। बादल छितराने पर धूप-छांव दौर भी बना हुआ है। अधिकतम तापमान (maximum teprature) 29 से 32 डिग्री के बीच कायम है।

अलसुबह 4 बजे से टपका-टपकी का दौर शुरू हो गया। वैशाली नगर, माकड़वाली रोड, जयपुर रोड, कायड़, भूणाबाय, रामगंज, गुलाबबाड़ी, राजा साइकिल सर्किल, नाका मदार, मेयो लिंक रोड, केसरगंज, सुभाष नगर और अन्य इलाकों में रुक-रुक कर बरसात हुई। पिछले दो-तीन से मौसम (weather)का यही हाल बना हुआ है। बादल छितराने धूप भी निकल रही है। बादलों के मंडराने और हवा (breeze)चलने से मौसम सामान्य बना हुआ है। न्यूनतम तापमान 24.1 से 26.0 डिग्री तक कायम है।

औसत आंकड़े के करीब

अजमेर जिले की औसत बारिश (average rain) 550 मिलीमीटर मानी गई है। सिंचाई विभाग के अनुसार जिले में अब तक 430 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है। जबकि मौसम विभाग के अनुसार अजमेर में 1 जून से अब तक 526 मिलीमीटर हुई है। औसत बरसात का आंकड़ा पार करने के लिए जिले को 120.14 मिलीमीटर बरसात (barsat) की जरूरत है। जबकि शहर को सिर्फ 25 मिलीमीटर आवश्यकता है।

जिले में अब तक बारिश
अजमेर 534 श्रीनगर 291.5, गेगल 208, पुष्कर 604, गोविंदगढ़ 310, बूढ़ा पुष्कर 322, नसीराबाद 459, पीसांगन 609, मांगलियावास 503, किशनगढ़ 464, बांदरसींदरी 52, रूपनगढ़ 453, अरांई 340, ब्यावर 594, जवाजा 447, टॉडगढ़ 458, सरवाड़ 504, गोयला 411, केकड़ी 536, सावर 248, भिनाय 571, मसूदा 350, बिजयनगर 458, नारायण सागर 386 मिलीमीटर (1 जून से अब तक बारिश)

जलाशयों (WATER BODIES) में पानी (फीट में)
आनासागर 13.1, फायसागर 14.3, पुष्कर 23.6, रामसर 6.7, शिवसागर न्यारा 15.5, राजियावास 4.3, मकरेड़ा 12.0, गोविंदगढ़ 1.10, अजगरा 5.7, ताज सरोवर अरनिया 13.4, मदन सरोवर धानवा 12.0, मुंडोती 0.80, पारा प्रथम 8.6 पारा द्वितीय 6.7, नाहर सागर 8.0, डेह सागर बड़ली 11.3, न्यू बरोल 5, मान सागर जोताया 7.0, लसाडिय़ा 11.4, बिसंूदनी बांध 10.9

सात साल बाद पर्याप्त बरसात...
जिले में पिछले सात साल से बरसात (rainfall in ajmer)का औसत आंकड़ा पार नहीं हो रहा है। ग्लोबल वार्मिंग, अलनिनो प्रभाव के चलते ऐसा हुआ है। इस बार मानसून की स्थिति ठीक है। साल 2012 में 520.2, 2013 में 540, 2014 में 545.8, 2015 में 381.44, 2016 में 512.07,2017 में 450 और 2018 में 325 (1 जून से 30 सिंतबर तक) मिलीमीटर बरसात ही हो पाई थी।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned