पत्नी बोली- ‘आए दिन नशे में करता था मारपीट, हत्या नहीं हाथ काटने का था इरादा’

हाथ काटते समय पति जागा तो रस्सी से दबा दिया गला

By: baljeet singh

Published: 25 Sep 2020, 05:01 AM IST

अजमेर/ सादुलपुर. गांव सांखणताल में पति की रस्सी से गला कर घोंटकर हत्या करने के आरोप में पुलिस ने आरोपित महिला को बुधवार खेत में बनी ढाणी पर दबिश देकर गिरफ्तार किया गया है। उसे गुरुवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा। हमीरवास थानाधिकारी सुभाषचंद्र ने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में हत्या की आरोपित नीरज ने बताया कि उसकी अपने पति को मारने की नहीं बल्कि हाथ काटने की मंशा थी। पुलिस को उसने बताया कि उसका पति निर्मल आए दिन शराब पीकर उसके साथ मारपीट ही नहीं करता था, बल्कि मानसिक रूप से परेशान करता था। पांच सितम्बर के बाद से वह लगातार रात को उसके साथ मारपीट कर करता आ रहा था। इसके कारण उसके मन में इतना गुस्सा भरा हुआ था कि शराब के नशे में ही उसकी मंशा पति निर्मल को रस्सी से बांधकर उसका हाथ काटने की थी, ताकि उसके साथ वह मारपीट नहीं कर सके। नशे में मदहोश निर्मल को पहले उसने रस्सी से बांध दिया। जब नीरज ने उसका हाथ काटने का प्रयास किया तो वह होश में आ गया तथा रस्सी खोलने की कोशिश करने लगा। यह देखकर नीरज डर गई कि बंधन खुलने पर निर्मल उसे गुस्से में जान से ही मार देगा। इसी डर से उसने निर्मल के गले में रस्सी डालकर जोर से खींच दी जिससे उसकी मौत हो गई।

डर से खुला राज

नीरज ने पुलिस को बताया कि घटना के बाद उसने शव को ठिकाने लगाने का प्रयास किया। इसके लिए उसने दो-तीन लडक़ों को फ ोन भी किया, लेकिन कोई नहीं आया। इसके बाद शव को घसीट कर कमरे में रखे बिस्तर में डाल दिया। लेकिन अगली रात उसे यह महसूस होने लगा कि बैड से आवाज आ रही है। इस पर डर के मारे उसने अपने भाई को फोन से घटना की जानकारी दी तथा मीरवास थाना पुलिस को सूचना कर दिया। उसके बाद हत्या का राजफाश हुआ।

यह था मामला
हमीरवास थानाधिकारी सुभाषचंद्र ने बताया कि इस संबंध में 22 सितंबर को गांव सांखणताल निवासी अशोक कुमार ने मामला दर्ज करवाया कि उसके छोटे भाई मृतक निर्मल कुमार (34) की शादी वर्ष 2011 में गांव झेरली निवासी नीरज के साथ हुई थी। निर्मल व उसकी पत्नी नीरज का आए दिन आपस में झगड़ा होता रहता था। लगभग दस दिन पहले नीरज अपने पति से झगड़ा कर पीहर गांव झेरली चली गई थी तथा दूसरे दिन उसका भाई दिनेश उसका वापस छोडक़र चला गया था। अशोक ने बताया कि 22 सितम्बर को सुबह 7.30 बजे वह अपने भाई के घर पहुंचा तो देखा कि ढाणी में बने मकान में उसके भाई निर्मल का शव कमरे के फर्श पर पड़ा हुआ था।

baljeet singh Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned