scriptSiddharth Roy Kapur to make a film on Kumbh Bhule Bhatke Tiwari | कुंभ के भूले—भटके तिवारी पर फिल्म बनाएंगे मशहूर फिल्मकार सिद्धार्थ राय कपूर | Patrika News

कुंभ के भूले—भटके तिवारी पर फिल्म बनाएंगे मशहूर फिल्मकार सिद्धार्थ राय कपूर

कुंभ मेले के दौरान बिछड़ने वालों को मिलाने के लिए 1946 में राजाराम तिवारी ने शुरू किया था भूले—भटके शिविर

इलाहाबाद

Updated: December 01, 2018 09:13:12 am

 

प्रयागराज। फिल्मों में आपने ने कुंभ मेले में भाइयोें की बिछड़ने की कहानी तो खूब सुनी और देखी होगी लेकिन अब जल्द ही आपको बड़े पर्दे पर इसकी असली कहानी देखने को मिलेगी। जी हां, एक ओर जहां उत्तरप्रदेश सरकार और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कुंभ 2019 को भव्य और दिव्य बनाने की तैयारी में लगे हुए हैं वहीं, मुंबई में बैठा एक फिल्म निर्माता कुंभ के आस—पास ही एक फिल्म बनाने की तैयारी में लगा है। हम बात कर रहे हैं दंगल फेम मशहूर फिल्मकार सिदृधार्थ राय कपूर की। फिल्म क्रिटिक तरन आदर्श ने टवीट करके यह जानकारी दी है।

sangam nagari
kumbh nagari

जो लोग प्रयागराज में लगने वाले माघ मेले और कुंभ मेले गए होंगे उनके लिए भूले—भटके शिविर शब्द जाना—पहचाना होगा। संगम के किनारे बांध के पास लगने वाला यह शिविर वर्षों से कुंभ की पहचान है। 1946 से शुरू हुए इस शिविर के जरिए मेले के दौरान अपनों से बिछड़ गए लोगों को उनके परिजनों से मिलवाया जाता है। मेले में खो गए लोगों को शिविर में लाया जाता है। पूरे मेला क्षेत्र में हजारों लाउडस्पीकर लगे रहते हैं। इसी शिविर में रखे एक माइक के जरिए इस पर अनाउंस किया जाता है। अपनों से बिछड़े हुए लोग यहां अपना नाम पर्ची में लिखकर देते हैं जिसे अनाउंसर माइक पर बोलता है यह आवाज हजारों माइक के जरिए पूरे मेला क्षेत्र तक पहुंच जाती है।

कपूर ने इसकी शुरुआत करने वाले राजाराम तिवारी का टाइटल अधिकार ले लिया है। भूले—भटके तिवारी के नाम से फेसम राजाराम के इसस प्रयास के जरिए लाखों लोग कुंभ मेले में बिछड़ने के बाद अपनों से मिल सके। राजाराम तिवारी का 2016 में निधन हो गया था। कपूर ने प्रयागराज निवासी उनके बेटे उमेश से मिलकर इस विषय पर पिक्चर बनाने की सहमति ली है। कपूर और उनके परिवार ने तिवारी से प्रयागराज में और मुंबई में मुलाकात की। हालांकि फिल्म निर्माण कब शुरू हो रहा है इसकी जानकारी अभी नहीं दी गई है। गौरतलब है कि तिवारी के भूले भटके शिविर को दुनियाभर की मीडिया ने सराहना की थी। मेले में आने वाले करोड़ों लोागें की सहूलियत के लिए शुरू हुआ यह शिविर दुनिया में अपने तरीके का अनूठा प्रयास है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Maharashtra : फ्लोर टेस्ट से गायब क्यों रहे MVA के 11 MLAs, कारण जानकर Congress की उड़ी नींदCBSE Board Result 2022: सीबीएसई 10वीं-12वीं का परिणाम कब करेगा जारी, cbseresults.nic.in पर देखें लेटेस्ट अपडेटफिर गोलीबारी से दहला अमेरिका: फ्रीडम डे परेड में फायरिंग से 6 लोगों की मौत, 57 घायलबुजुर्ग महिला से कैफे में मिले राहुल गांधी, कांग्रेस ने बताया बिना स्क्रिप्ट का शुद्ध प्रेमभूंकप के झटकों से थर्राया अंडमान निकोबार, रिक्टर स्कैल पर 5 मापी गई तीव्रताEknath Shinde Property: मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे से 12 गुना ज्यादा अमीर हैं शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, जानें किसके पास कितनी संपत्तिपश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री के आवास में घुसने वाले शख्स ने परिसर को समझ लिया था कोलकाता पुलिस का मुख्यालयसिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद कार में पिस्तौल लहराते हुए जश्न मनाते दिखे हत्यारे, वायरल हुआ वीडियो
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.