वंदे भारत का एसी फेल , गुस्साए यात्री रेलवे अधिकारी को अपने साथ ले गये , मंत्रालय तक पंहुचा मामला

एक घंटे देरी से हुई रवाना वंदे भारत

प्रयागराज | देश की पहली स्वदेशी हाई स्पीड वंदे भारत ट्रेन के यात्रियों ने जमकर हंगामा काटा । वाराणसी से नई दिल्ली जा रही वंदे भारत एक्सप्रेस के एसी चेयर कार में कूलिंग ना होने से यात्रियों ने अपनी नाराजगी जाहिर की। जंक्शन पर जैसे ही बंदे भारत ट्रेन पहुंची चेयर कार के सभी यात्री बाहर निकल आए और बंदे भारत एक घंटे देर से इलाहाबाद जंक्शन से रवाना की गई।

अधिकारीयों पर फूटा गुस्सा
वंदे भारत वाराणसी से चलकर नई दिल्ली जा रही थी। हर दिन की तरह बंदे भारत इलाहाबाद जंक्शन के प्लेटफार्म नंबर 6 पर पहुंची। लेकिन उसकी पंहुचते ही यात्रियों ने अपने गुस्से का इजहार किया। यात्रियों ने कहा कि जब तक इस की कूलिंग ठीक नहीं हो जाएगी। यह नहीं जाएगी और इस दौरान रेल अधिकारियों को यात्रियों ने खूब खरी.खोटी सुनाई।

चार कोच में फेल थी एसी

वंदे भारत एक्सप्रेस का जंक्शन पर आने का समय 4:35 है वाराणसी से नई के बाद ट्रेन 16 मिनट देरी से इलाहाबाद जंक्शन पर पहुंची थी। स्टेशन पर पहुंचते ही यात्रियों ने इसी के ना चलने की बात कही। ट्रेन में सी11 सी 12सी 13 सी14 सी तक कूलिंग न होने की शिकायत की गई। उत्तर मध्य रेलवे के पीआरओ अमित मालवीय ने बताया कि इलाहाबाद जंक्शन पर बंदे भारत के पहुंचने से थोड़े समय पहले सूचित किया गया कि बंदे भारत के कुछ कोचों में एसी कूलिंग नहीं कर रही है।

अधिकारियों ने अटेंड किया
ट्रेन प्लेटफार्म पर पहुंची यहां कर्मचारी और अधिकारियों ने उसे तत्काल अटेंड किया। उसके मरम्मत का काम शुरू हुआ। उन्होंने कहा कि यात्रियों में थोड़ी नाराजगी थी। लेकिन मौके पर अधिकारी और कर्मचारी मौजूद थे ।जिन्होंने तत्काल काम शुरू किया। 30 मिनट अतिरिक्त समय लगा और बंदे भारत रवाना हुई। उन्होंने कहा यह तकनीकी खामी थी। जिसे दूर किया गया। बनारस से चलने के बाद इलाहाबाद पहला जंक्शन था। जहां पर सूचना मिलते ही उसे अटेंड किया गया। उन्होंने बताया कि कुछ की डिवाइस में फाल्ट थी। जिसे सर्च करके तत्काल पता लगाया गया। यात्रियों को थोड़ी देर से रवाना किया गया ।लेकिन खामी को तंदुरुस्त किया गया।

साथ गये सीनियर डीसीएम
वही बंदे भारत की एसी में खराबी की सूचना पर आला अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। एसी के मरम्मत के बाद सीनियर डीसीएम नवीन दीक्षित खुद ट्रेन में सवार होकर इलाहाबाद से कानपुर तक साथ जाने की बात कही ।इसके बाद ही यात्री बंदे भारत में सवार हुए। इस भागदौड़ और मरम्मत के दौरान ट्रेन शाम 5:53 पर जंक्शन से रवाना हो सकी। इस मामले को घंटो रेल प्रशासन दबाए । वही कई यात्रियों ने मंत्रालय को ट्विट कर इसकी जानकारी दी ।

प्रसून पांडे
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned