scriptWhat is NPS New Pension Scheme and OPS Old Pension Scheme | जाने पुरानी और नई पेंशन स्कीम में क्या हैं 10 बड़े अंतर, इस तरह से मिलेगा केंद्रीय कर्मचारियों को बड़ा फायदा | Patrika News

जाने पुरानी और नई पेंशन स्कीम में क्या हैं 10 बड़े अंतर, इस तरह से मिलेगा केंद्रीय कर्मचारियों को बड़ा फायदा

पुरानी और नई पेंशन स्कीम को लेकर चर्चा तेज हैं। इस योजना को लेकर बहुत से केंद्रीय कर्मचारी आस लगाए बैठे हैं। अब यूपी विधानसभा चुनाव के साथ ही एक बार फिर से जोर मिला है। इसके साथ ही सेंट्रल कर्मचारियों को भी इस स्कीम का बेसब्री से इंतजार है। कर्मचारियों को यह उम्मीद है कि भारत सरकार पुरानी और नई पेंशन स्कीम ला सकती है। इस स्कीम तहत उन कर्मचारियों को लाभ मिलेगा जिनकी भर्ती 31 दिसंबर 2003 को यह उससे पहले जारी किए गए थे।

इलाहाबाद

Published: February 20, 2022 01:04:40 pm

प्रयागराज: पुरानी और नई पेंशन स्कीम को लेकर चर्चा तेज हैं। इस योजना को लेकर बहुत से केंद्रीय कर्मचारी आस लगाए बैठे हैं। अब यूपी विधानसभा चुनाव के साथ ही एक बार फिर से जोर मिला है। इसके साथ ही सेंट्रल कर्मचारियों को भी इस स्कीम का बेसब्री से इंतजार है। कर्मचारियों को यह उम्मीद है कि भारत सरकार पुरानी और नई पेंशन स्कीम ला सकती है। इस स्कीम तहत उन कर्मचारियों को लाभ मिलेगा जिनकी भर्ती 31 दिसंबर 2003 को यह उससे पहले जारी किए गए थे। सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश के बाद से कर्मचारियों में खुशी की लहर है।
जाने पुरानी और नई पेंशन स्कीम में क्या हैं 10 बड़े अंतर, इस तरह से मिलेगा केंद्रीय कर्मचारियों को बड़ा फायदा
जाने पुरानी और नई पेंशन स्कीम में क्या हैं 10 बड़े अंतर, इस तरह से मिलेगा केंद्रीय कर्मचारियों को बड़ा फायदा
2005 में बंद हुई थी पुरानी पेंशन

जानकारी के अनुसार अप्रैल 2005 के बाद तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई की केंद्र सरकार ने नियुक्तियों के लिए पुरानी पेंशन को बंद कर दिया था। नई पेंशन योजना लागू की गई थी। केंद्र सरकार के बाद नई पेंशन योजना लागू करने में राज्य भी पीछे नहीं रहे. हालांकि, ये अनिवार्य नहीं था। यूनियन का मानना है कि उस वक्त कर्मचारी इस नई पेंशन योजना को समझ नहीं पाए, उन्हें ऐसा लगा था, जैसे यह योजना सेवानिवृत्ति के बाद उन्हें पुरानी पेंशन योजना से ज्यादा फायदा देगी, लेकिन ये भ्रम टूटा और पिछले कई सालों से नई पेंशन योजना का विरोध शुरू हो गया। आइये समझते हैं कि दोनों पेंशन स्कीम में आखिर अंतर क्या है।
यह भी पढ़ें

पेट्रोल लेने से पहले इन बातों का रखे ध्यान, कभी नहीं मिलेगा कम तेल, ये टिप्स अपनाएंगे तो नहीं होगी ठगी

ये हैं 10 बड़े अंतर

केद्रीय कर्मचारियों को समझने के यह 10 अंतर से समझ सकते हैं।

इस स्कीम में ओल्ड पेंशन स्कीम में पेंशन के लिए वेतन से कोई कटौती नहीं होती।
एनपीएस में कर्मचारी के वेतन से 10 प्रतिशत बेसिक+ डीए की कटौती होती है।

पुरानी पेंशन योजना में GPF की सुविधा है।

NPS में जनरल प्रोविडेंट फंड GPF की सुविधा को नहीं जोड़ा गया है।
यह भी पढ़ें

UP assembly elections 2022: प्रयागराज में 25 फरवरी तक जारी रहेगा चुनावी हंगामा, बड़े-बड़े दिग्गज नेताओं की होगी सभा, जाने कब कौन आएगा

पुरानी पेंशन एक सुरक्षित पेंशन योजना है। इसका भुगतान सरकार की ट्रेजरी के जरिए किया जाता है।

नई पेंशन योजना NPS शेयर बाजार आधारित है, बाजार की चाल के आधार पर ही भुगतान होता है।
पुरानी पेंशन OPS में रिटायरमेंट के समय अंतिम बेसिक सैलरी के 50 फीसदी तक निश्चित पेंशन मिलती है।

NPS में रिटायरमेंट के समय निश्चित पेंशन की कोई गारंटी नहीं है।

पुरानी पेंशन योजना में 6 महीने के बाद मिलने वाला महंगाई भत्ता DA लागू होता है। NPS में 6 महीने के बाद मिलने वाला महंगाई भत्ता लागू नहीं होता है।OPS में रिटायरमेंट के बाद 20 लाख रुपए तक ग्रेच्युटी मिलती है।
NPS में रिटायरमेंट के समय ग्रेच्युटी का अस्थाई प्रावधान है। OPS में सर्विस के दौरान मौत होने पर फैमिली पेंशन का प्रावधान है।

NPS में सर्विस के दौरान मौत होने पर फैमिली पेंशन मिलती है, लेकिन योजना में जमा पैसे सरकार जब्त कर लेती है।
OPS में रिटायरमेंट पर GPF के ब्याज पर किसी प्रकार का इनकम टैक्स नहीं लगता है। NPS में रिटायरमेंट पर शेयर बाजार के आधार पर जो पैसा मिलेगा, उस पर टैक्स देना पड़ेगा।

OPS में रिटायरमेंट के समय पेंशन प्राप्ति के लिए GPF से कोई निवेश नहीं करना पड़ता है।
NPS में रिटायरमेंट पर पेंशन प्राप्ति के लिए NPS फंड से 40 फीसदी पैसा इन्वेस्ट करना होता है।

OPS में 40 फीसदी पेंशन कम्यूटेशन का प्रावधान है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

Punjab Borewell Accident: बोरवेल में गिरे 6 साल के बच्चे की नहीं बचाई जा सकी जान, अस्पताल में हुई मौतBJP को सरकार बनाने के लिए क्यूँ जरूरी है काशी और मथुरा? अयोध्या से बड़ा संदेश देने की तैयारी..पश्चिम बंगाल का पूर्व मेदिनीपुर जिला बम धमाकों से दहला, तलाशी के दौरान बरामद हुए 1000 से अधिक बमIPL 2022, SRH vs PBKS Live Updates: पावर प्ले में हैदराबाद ने बनाए 1 विकेट के नुकसान पर 43 रनआम आदमी पार्टी में शामिल होंगे कपिल देव! हरियाणा चुनाव से पहले AAP का बड़ा दांव, केजरीवाल संग फोटो वायरलआख़िर क्यों असदुद्दीन ओवैसी बार-बार प्लेसेज ऑफ़ वर्शिप एक्ट का रो रहे हैं रोना, यहां जानेंपुजारा और कार्तिक की टीम में वापसी, उमरान मालिक को भी मिला मौका, देखें दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड दौरे का पूरा स्क्वाडपश्चिम बंगाल में BJP को बड़ा झटका, बैरकपुर के भाजपा सांसद अर्जुन सिंह TMC में हुए शामिल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.