अंबेडकर नगर में जहरीली शराब ने ली 5 की जान, जांच में जुटी पुलिस

- आबकारी विभाग की निष्क्रियता के चलते लोगों की जानें गई

By: Neeraj Patel

Published: 11 May 2021, 03:07 PM IST

अंबेडकर नगर. जिले में जैतपुर थाना क्षेत्र के मखदूमपुर की चौहान बस्ती मे जहरीली शराब (Poisonous Liquor) के सेवन से पांच लोगों की मौत हो गई। जबकि चार लोगों की हालत नाजुक बनी हुई है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। शराब पीने वाले लोग लॉकडाउन में आजमगढ़ जिले के बॉर्डर से देसी शराब खरीदकर लाए थे। सोनू चौबे आजमगढ़ जिले की सीमा पर स्थित मिट्टूपूर बाजार से देसी शराब लेकर आया था। रविवार को सोनू चौबे के अलावा बगल के गांव मखदूमपुर के रहने वाले राम शुभम चौहान, अमित चौहान, जैसराज, महेश ने भी शराब पी थी। शराब पीने के बाद सभी की हालत बिगड़ने लगी। तबीयत बिगड़ने के बाद आनन-फानन में इन्हें प्राइवेट अस्पतालों में भर्ती कराया गया।

इलाज के दौरान अमित चौहान की मौत हो गई। जबकि सोनू चौबे व सेवानिवृत्त सूचना अधिकारी राम शुभग चौहान ने अगले दिन दम तोड़ दिया। वहीं, शराब पीने से हुई मौत की घटना को ग्रामीणों ने छिपाकर आनन-फानन में तीनों शवों का अंतिम संस्कार कर दिया। हालांकि, शराब पीने से मौत की जानकारी सपा विधायक सुभाष राय ने पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और दो शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।

ये भी पढ़ें - Corona Curfew: शराबियों के लिए बड़ी खबर, इन शर्तों के साथ आज से खुलेंगी शराब की दुकानें

मृतकों के परिजनों को मिले 20 लाख का मुआवजा

डीएम सैमुअल पॉल और एसपी आलोक प्रियदर्शी ने गांव जाकर मामले की जांच शुरू कर दी है। डीएम ने बताया कि शराब पड़ोसी आजमगढ़ जिले के मिट्टूपूर से लाई गई थी। मामले की जानकारी आजमगढ़ के डीएम को दी गई है। साथ ही गांव में सर्च अभियान चलाया जा रहा है। सपा नेता सिद्धार्थ मिश्रा का आरोप है कि आबकारी विभाग की निष्क्रियता के चलते लोगों की जानें गई हैं। मृतकों के परिजनों को 20 लाख का मुआवजा मिले। साथ ही दोषी पुलिस और आबकारी अधिकारी के खिलाफ केस दर्ज किया जाए।

Corona virus
Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned