आतंक के खिलाफ लड़ाई में श्रीलंका को मिला अमरीका का साथ, 480 मिलियन डॉलर की मदद का ऑफर

  • अमरीका और श्रीलंका ने आतंकवाद खिलाफ लड़ाई में मिलकर काम करने पर जताई प्रतिबद्धता।
  • अमरीकी विदेश मंत्री ने श्रीलंका के विदेशमंत्री से मुलाकात कर की चर्चा।
  • अमरीका ने श्रीलंका को आतंक के खिलाफ लड़ाई के लिए $ 480 मिलियन की सहायता राशि दी है।

By: Anil Kumar

Updated: 18 May 2019, 11:52 AM IST

वाशिंगटन। अमरीका ( America ) ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई के लिए अपनी प्रतिबद्धता दोहराते हुए कहा कि वह आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में श्रीलंका की हर संभव मदद करेगा। बीते महीने ईस्टर संडे पर श्रीलंका ( Sri Lanka ) में हुए सीरियल ब्लास्ट में 250 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी जबकि 500 से अधिक लोग घायल हुए थे। गुरुवार को वाशिंगटन ( Washington ) में सुरक्षा, आतंकवाद ( terrorism ) विरोधी और अंतर्राष्ट्रीय संगठित अपराध पर केंद्रित उच्च स्तरीय बैठक आयोजित की गई। बैठक में अमरीकी विदेश मंत्री माइक आर पोम्पियो ( Michael Richard Pompeo ) ने श्रीलंका के विदेश मंत्री तिलक मारापाना से मुलाकात की और दोनों ने इस पर चर्चा की। माइक पोम्पियो ने बीते महीने श्रीलंका में हुए आतंकी हमले की कड़ी निंदा की। इस हमले में पांच अमरीकी नागरिकों की भी मारे गए थे। उन्होंने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में अमरीका पूरी मजबूती के साथ श्रीलंका के साथ खड़ा है। बयान में यह भी कहा गया है कि विदेश मंत्री मारापाना ने बम विस्फोट के बाद अमरीकी समर्थन की सराहना की और भविष्य में हमलों को रोकने के लिए सहयोग को मजबूत करने में श्रीलंका की रुचि से अवगत कराया।

अमरीकी प्रतिबंधों के बाद ईरान का बड़ा फैसला, यूरेनियम और भारी जल के उत्पादन बढ़ाने का काम शुरू

श्रीलंका को मिला 480 डॉलर की सहायता राशि

बता दें कि अमरीका ( America ) की ओर से श्रीलंका को आतकं के खिलाफ लड़ाई में आगे बढ़ने के लिए 480 डॉलर आर्थिक मदद दी गई है। इसको लेकर माइक पोम्पियो और तिलक मारापाना ने 480 डॉलर मिलियन मिलेनियम चैलेंज कॉरपोरेशन ( Millennium Challenge Corporation ) ( MCC ) कॉम्पैक्ट के अनुमोदन का स्वागत किया है, जो एक महत्वपूर्ण विकास के रूप में श्रीलंका में समृद्धि और आर्थिक संप्रभुता में योगदान देगा। बता दें कि MCC एक अभिनव और स्वतंत्र अमरीकी विदेशी सहायता एजेंसी है, जो वैश्विक गरीबी पर अंकुश लगाने में मदद करता है, आर्थिक विकास को बढ़ावा देने और संस्थानों को मजबूत करने के लिए एक तय समय-सीमा के तहत अनुदान प्रदान करता है। डेली मिरर ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि दोनों अधिकारियों और दोनों देशों के प्रतिनिधियों को इंडो-पेसिफिक ( Indo-Pacific ) रणनीति, श्रीलंका और एशियाई क्षेत्र, आपसी सैन्य संबंध, सैन्य बलों के दौरे और श्रीलंका की शांति स्थापना-क्षमताओं पर सहायता के लिए चर्चा करने की उम्मीद है। मालूम हो कि 21 अप्रैल को श्रीलंका की राजधानी कोलंबो में तीन चर्च और पांच होटलों को निशाना बनाते हुए सीरियल ब्लास्ट ( Serial Blast ) किए गए थे, जिसमें 250 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 500 से अधिक लोग घायल हो गए थे।

 

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned