कोरोना संकट के बीच इस देश ने बनाई एक डोज वाली वैक्सीन, 66 फीसदी ज्यादा प्रभावी होने का दावा

  • Coronavirus से निपटने के लिए एक डोज वाली वैक्सीन
  • एफडीए के वैज्ञानिकों का दावा संक्रमण रोकने में 66 फीसदी ज्यादा प्रभावी
  • जल्द ही अमरीका में तीसरी वैक्सीन को मिल सकती है मंजूरी

By: धीरज शर्मा

Published: 25 Feb 2021, 01:31 PM IST

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ( Coronavirus ) महामारी ने पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया है। हर देश इस महामारी से बचने के लिए लगातार कोशिशों में जुटा हुआ है। भारत समेत कई देशों में कोरोना को मात देने के लिए टीके भी इजात कर लिए और टीकाकरण ( Corona Vaccination ) भी शुरू हो चुका है। लेकिन ये सभी टीके दो डोज में दिए जा रहे हैं वो भी करीब एक महीने के अंतराल में।

इस बीच एक बड़ी खबर सामने आई है। अमरीका में कोरोना को मात देने के लिए एक डोज वाली वैक्सीन तैयार की गई है। साथ ही ये दावा भी किया गया है कि ये वैक्सीन 66 फीसदी प्रभावी है।

पेट्रोल-डीजल के बाद अब ट्रेन के किराए में भी हुई जबरदस्त बढ़ोतरी, भारतीय रेलवे ने किराया बढ़ाने के पीछे बताया ये तर्क

भारत की कोविशील्‍ड (Covishield) और कोवैक्‍सीन (Covaxin) समेत दुनिया के तमाम देशों में फिलहाल दो डोज वाली वैक्सीन कोरोना से लड़ने के लिए दी जा रही है।

इस बीच ऐसी भी वैक्‍सीन आ गई है, जो सिर्फ एक डोज में ही काम कर देगी। यह वैक्‍सीन तैयार की है जॉनसन एंड जॉनसन (Johnson and Johnson) ने।

कंपनी का दावा है कि एक डोज ही कोरोना वायरस से बचाव के लिए पर्याप्‍त है। खाद्य एवं औषधि प्रशासन (FDA) के स्वतंत्र सलाहकार शुक्रवार को चर्चा करने वाले हैं, जिसके आधार पर इसके उपयोग की कुछ दिनों के अंदर अनुमति दी जा सकती है।

एफडीए ने किया ये दावा
एफडीए के वैज्ञानिकों ने इस बात की पुष्टि की है कि यह टीका कोविड-19 के मध्यम से गंभीर स्तर के संक्रमण को रोकने के लिए करीब 66 प्रतिशत प्रभाव क्षमता रखता है।

एफडीए ने कहा कि जॉनसन एंड जॉनसन के इस टीके की दो के बजाय सिर्फ एक खुराक देने की जरूरत होगी और यह उपयोग के लिए सुरक्षित है।

अमरीका के लिए तीसरे टीके की अनुमति देने से एफडीए बस एक कदम दूर है। शुक्रवार को एजेंसी के स्वतंत्र सलाहकार इस बारे में चर्चा करेंगे कि क्या इस टीके की अनुमति देने के लिए पर्याप्त रूप से ठोस साक्ष्य उपलब्ध हैं।

उस सलाह के आधार पर एफडीए की ओर से कुछ दिनों के अंदर एक अंतिम फैसला करने की उम्मीद है।

तीसरी से लेकर आठवीं के बच्चों को नहीं देनी होगी परीक्षा, अब इस आधार पर अलगी क्लास में कर दिया जाएगा प्रमोट

अमरीका में करीब 7 करोड़ लोगों लगी वैक्सीन
आपको बता दें कि अमरीका में अब तक करीब 4.45 करोड़ लोगों को फाइजर या मोडेरना की ओर से निर्मित टीके की कम से कम एक खुराक लगी है। वहीं, दो करोड़ लोगों को दूसरी खुराक मिल चुकी है।

Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned