ओमान की खाड़ी में हुए तेल टैंकरों पर हमले पर संयुक्त राष्ट्र सख्त, दिए स्वतंत्र जांच के आदेश

  • संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने की तेल टैंकरों पर हमले की स्वतंत्र जांच की मांग
  • ओमान की खाड़ी में एक महीने के अंदर दो बार हुआ ऐसा हमला
  • अमरीका ने वीडियो जारी कर ईरान पर लगाया आरोप

By: Shweta Singh

Updated: 15 Jun 2019, 03:42 PM IST

संयुक्त राष्ट्र। ओमान की खाड़ी में एक खास जगह एक महीने के अंदर दूसरी बार तेल टैंकरों पर हुए हमले के बाद से इलाके में तनाव गहराया हुआ है। कुछ दिन पहले दो टैंकरों पर हुए हमले के बाद संयुक्त राष्ट्र ( United Nations ) इस पर सख्त होता नजर आ रहा है। UN के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ( antonio guterres ) ने इसकी स्वतंत्र जांच कराने का आह्वान किया है। UN ने यह निर्देश अमरीका द्वारा जारी फुटेज के बाद दिया है। न्यूयार्क स्थित संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय से इस बात की जानकारी मिल रही है।

सच सामने आना जरूरी: एंटोनियो गुटेरेस

मुख्यालय ने शुक्रवार को संयुक्त राष्ट्र प्रमुख के हवाले से कहा, 'सच का पता लगना बहुत जरूरी है, और जवाबदेही स्पष्ट होना बहुत जरूरी है।' बयान में कहा गया कि यह सिर्फ तभी हो सकता है जब कोई स्वतंत्र संस्था मामले से जु़ड़े तथ्यों का सत्यापन करे।

Antonio Guterres

खाड़ी में भारी संघर्ष बर्दाश्त नहीं कर सकती दुनिया

यही नहीं हमलों और उनकी जांच से संबंधित एक प्रश्न का जवाब देते हुए संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने कहा, 'अंतरराष्ट्रीय समुदाय में जो भी हो, हम इस संबंध में किसी भी पहल का समर्थन करेंगे, बशर्ते यह स्वतंत्र हो।' गुटेरेस ने आगे कहा कि दुनिया, खाड़ी में भारी संघर्ष बर्दाश्त नहीं कर सकती।

Shinzo Abe With Hassan Rouhani

अमरीका ने लगाए थे ईरान पर आरोप

बता दें कि शुक्रवार को अमरीकी सेना ने एक वीडियो फुटेज जारी करते हुए आरोप लगाया था कि खाड़ी में दो टैंकरों को पर हमले के पीछे ईरान का हाथ है। हवा से ली गई इस धुंधली फुटेज में टैंकर के पास एक छोटी सैन्य नाव देखी जा सकती है। वीडियो में आगे एक व्यक्ति पतवार की मदद से टैंकर से कुछ निकालने के लिए नाव के किनारे खड़ा दिखाई दे रहा है। छोटी नाव फिर टैंकर से दूर जाती है। अमरीकी अधिकारियों के हवाले से कहा गया कि यह एक ईरानी रिवोल्यूशनरी गार्ड गश्ती की नौका थी। थोड़ी देर बाद टैंकर में धमाका होता है। इससे आशंका जताई जा रही है कि यह वस्तु माइन हो सकती है।

अमरीका का दावा: ईरान ने किए थे तेल टैंकरों पर हमले

शिंजो आबे की यात्रा के दौरान हुआ टैंकर पर हमला

बता दें कि गुरुवार को ओमान की खाड़ी में तेल के दो टैंकरों पर हमला किया गया था। इनमें से टैंकर का संचालन जापानी कंपनी कर रही थी। खास बात यह है कि हमले जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे की ईरान यात्रा के बीच हुए हैं। इस यात्रा के दौरान आबे ईरान-अमरीका के बीच जारी तनाव को कम करने में मध्यस्थ की भूमिका निभानेवाले थे। वहीं, इससे पहले मई में भी संयुक्त अरब अमीरात के तट पर भी चार व्यापारिक जहाजों में ऐसी ही तोड़फोड़ की गई थी।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

 

Show More
Shweta Singh Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned