अमरीका ने जंगी जहाज एफ-35 स्‍टील्‍थ को ऑपरेशन से हटाया, 28 सितंबर को हो गया था दुर्घटनाग्रस्‍त

अमरीका ने जंगी जहाज एफ-35 स्‍टील्‍थ को ऑपरेशन से हटाया, 28 सितंबर को हो गया था दुर्घटनाग्रस्‍त

Mazkoor Alam | Publish: Oct, 11 2018 10:17:15 PM (IST) | Updated: Oct, 11 2018 10:17:16 PM (IST) अमरीका

शुरुआती आंकड़ों से पता चलता है कि दक्षिण कैरोलिना के ब्यूफोर्ट के पास दुर्घटनाग्रस्त हुई एफ-35बी विमान का कारण उसका फ्यूल ट्यूब है।

वॉशिंगटन : दुनिया के इतिहास की सबसे महंगे जंगी जहाज एफ-35 स्‍टील्‍थ को अमरीका ने अस्‍थायी रूप से ऑपरेशन से हटा लिया है। इसकी वजह यह बताई गई है कि 28 सितंबर को दक्षिण कैरोलिना में प्रशिक्षण के दौरान एक नौसैनिक बेड़ा एफ -35बी दुर्घटनाग्रस्‍त होकर पूरी तरह नष्ट हो गया था। किसी तरह पायलट को सुरक्षित रूप से बाहर निकाला गया था।

दुर्घटना के कारणों की हो रही है जांच
एफ -35 कार्यक्रम के प्रवक्ता जो डेलावेडोवा के अनुसार, अमरीका और ब्रिटेन, इजराइल समेत इस ऑपरेशन के तमाम अंतरराष्ट्रीय भागीदारों ने एफ-35 के इंजन और ईंधन ट्यूब के व्यापक निरीक्षण कर गड़बड़ी को पूरी तरह ठीक कर लिए जाने तक के लिए अस्थायी रूप से सभी एफ-35 फ्लाइट के उड़ान पर अस्‍थायी रूप से रोक लगा दी है।

24 से 48 घंटे में पूरी कर ली जाएगी जांच
कार्यक्रम के प्रवक्‍ता जो डेलावेडोवा ने बताया कि एफ-35बी की जांच चल रही है। शुरुआती आंकड़ों से पता चलता है कि दक्षिण कैरोलिना के ब्यूफोर्ट के पास दुर्घटनाग्रस्त हुई एफ-35बी विमान का कारण उसका फ्यूल ट्यूब है। इसलिए उसे हटा कर उसकी जगह दूसरी फ्यूल ट्यूब लगाई जा रही है। यदि किसी विमान में पहले से लगी ईंधन ट्यूब अच्‍छी हालत में होगी, तो वैसे विमानों को ऑपरेशन में शामिल करने की इजाजत दे दी जाएगी। कार्यक्रम के प्रवक्‍ता ने यह भी जानकारी दी कि निरीक्षण का यह काम 24 से 48 घंटों के भीतर पूरा कर लेने की उम्‍मीद है।

अमरीकी इतिहास की सबसे महंगी हथियार प्रणाली
बता दें कि 1990 के दशक के शुरुआती दौर में इसे लॉन्च किया गया था। एफ-35 कार्यक्रम को न सिर्फ अमरीकी इतिहास का विश्‍व इतिहास का भी सबसे महंगी हथियार प्रणाली मानी जाती है। इसका अनुमानित लागत 400 अरब डॉलर है। अमरीका का लक्ष्‍य आने वाले वर्षों में 2,500 और एफ-35 विमानों को अपने सेना से जोड़ने का है।

 

Ad Block is Banned