ट्रंप से टकराव की राह पर डेमोक्रेट्स, विलियम बर्र और मैकघन पर भी कसा शिकंजा

ट्रंप से टकराव की राह पर डेमोक्रेट्स, विलियम बर्र और मैकघन पर भी कसा शिकंजा

Mohit Saxena | Publish: Jun, 12 2019 12:35:51 PM (IST) | Updated: Jun, 12 2019 03:35:39 PM (IST) अमरीका

  • अमरीकी कांग्रेस में 229 में से 191 वोट प्रस्ताव के पक्ष में पड़े
  • वोटिंग हाउस स्पीकर नैन्सी पेलोसी की अध्यक्षता में हुई
  • 2020 के राष्ट्रपति चुनाव में ट्रंप और सहयोगियों को करना चाहती हैं अयोग्य

वाशिंगटन। अमरीकी सदन के डेमोक्रेट्स सदस्यों ने ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ बेहद कड़ा रुख अपना लिया है। मंगलवार को ट्रंप के दो सहयोगियों बर्र और मैकघन समेत सभी वफादारों को समन भेजने के प्रस्ताव पर वोटिंग की गई। बता दें कि वाइट हाउस के पूर्व वकील डोनाल्ड मैकघन और एटॉनी जनरल विलियम पी बर्र इस सूची में शामिल प्रमुख नाम हैं।अमरीकी कांग्रेस के होउसे ऑफ़ रिप्रेजेन्टेटिव में हुए मतदान में 229 में से 191 वोट प्रस्ताव के पक्ष में पड़े। सदन में इस प्रस्ताव के अनुसार न्यायपालिका समिति को दस्तावेजों और गवाही के आधार पर बर्र और मैकघन के खिलाफ अदालत में जाने का अधिकार होगा।

 

trump

डेमोक्रेट्स नेता दो फाड़

वोटिंग डेमोक्रेटिक की हाउस स्पीकर नैन्सी पेलोसी की अध्यक्षता में हुई। गौरतलब है कि डेमोक्रेट्स इस मुद्दे पर दो फाड़ में बटे हुए हैं। एक ग्रुप का कहना है कि ट्रंप के खिलाफ महाभियोग चलाया जाए। वहीं दूसरों का कहना है कि वह इन्हें जेल की सलाखों के पीछे देखना चाहते हैं। खासकर पेलोसी का कहना है कि वह महाभियोग के पक्ष में नहीं हैं। वह चाहती सीधे ट्रंप को सजा देने के पक्ष में हैं। उनका तर्क है कि इस मामले में हाउस की इस कार्यकारी शाखा की जांच करने का संवैधानिक अधिकार है।

2020 में राष्ट्रपति चुनाव से पहले हो कार्रवाई

अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ डोनाल्ड मैकघन और एटॉर्नी जनरल विलियम पी बर्र को विपक्षी पार्टियां घेरना चाहती हैं। गौरतलब है कि 2020 के राष्ट्रपति चुनाव में ट्रंप के लिए जीत की जमीन यहींदोनों तैयार करेंगे क्योंकि ये दोनों उनकी टीम का हिस्सा हैं। बीते साल ट्रंप ने विलियम बर्र को देश के नए अटॉर्नी जनरल के रूप में नामित किया था। ट्रंप ने जेफ सेशंस के इस्तीफे के बाद विलियम बर्र को यह मौका दिया था। वहीं ट्रंप के विशेष सलाहाकर डोनाल्ड मैकघन भी ट्रंप के खास सहयोगियों में से एक हैं। आने वाले राष्ट्रपति चुनाव में इस तिगड़ी को विपक्ष कमजोर करने की कवायद में लगा है।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned