पाकिस्तान ने दिया पुरानी दोस्ती का हवाला, चीन ने किया लड़कियों की तस्करी मामले में मदद का ऐलान

पाकिस्तान ने दिया पुरानी दोस्ती का हवाला, चीन ने किया लड़कियों की तस्करी मामले में मदद का ऐलान

Siddharth Priyadarshi | Updated: 09 May 2019, 09:09:22 PM (IST) एशिया

  • पाकिस्तान ने 12 चीनी नागरिकों को किया है गिरफ्तार
  • चीनी नागरिकों पर लड़कियों की तस्करी का आरोप
  • लड़कियों को अवैध तरीके से चीन ले जाकर कराया जाती है वेश्यावृत्ति

इस्लामाबाद। लड़कियों की तस्करी के मामले में विपक्ष का हमला झेल रहे पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने चीन से पुरानी दोस्ती का हवाला देते हुए कहा है कि वह इस मामले में पाकिस्तान का सहयोग करे। इस अनुरोध के बाद चीन ने पाकिस्तानी अधिकारियों को लड़कियों की तस्करी की जांच के लिए अधिक से अधिक सहयोग का आश्वासन दिया है। पाक मीडिया ने अपनी खबरों में दावा किया है कि बीजिंग ने हालिया समाचारों को कथित तौर पर नोटिस किया है।

अमरीका: अटॉर्नी जनरल विलियम बर्र पर अवमामना का आरोप, हाउस पैनल की घोषणा से बढ़ीं ट्रंप की मुश्किलें

लड़कियों की तस्करी के मामले में मदद करेगा चीन

चीन ने पाकिस्तानी और चीनी नागरिकों को फर्जी अवैध विवाह सलाहकारों से दूर रहने की चेतावनी जारी की है। उधर पाकिस्तान पुलिस की रिपोर्ट के अनुसार फैसलाबाद के लड़कियों की तस्करी के एक और गिरोह का पर्दाफाश हुआ है। बताया जा रहा है कि यह गिरोह मानव तस्करी में शामिल है। अधिकारियों ने कहा कि मानव तस्करी गिरोह ने लगभग 18 लड़कियों को चीन भेजा है। उप निदेशक एफआईए जमील अहमद खान मेयो ने पकहा कि अधिकारियों ने देश में अवैध गतिविधियों में शामिल विदेशियों के खिलाफ कार्रवाई के तहत लाहौर हवाई अड्डे और अन्य क्षेत्रों से आठ चीनी नागरिकों को युवतियों की तस्करी करने के आरोप में गिरफ्तार किया। अधिकारी के अनुसार,आरोपी पाकिस्तानी एजेंटों की सहायता से बेसहारा लड़कियों के साथ विवाह किया और फिर उन्हें चीन ले गए जहां पीड़ितों को वेश्यावृत्ति के लिए मजबूर किया गया। आरोपियों में एक चीनी महिला भी शामिल है।

पाकिस्तान: नकली खातों की जांच के लिए NAB के सामने पेश होंगे पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी

पाक लड़कियों की तस्करी

आपको बता दें कि पाकिस्तानी लड़कियों की तस्करी चीनियों द्वारा बहुत पहले से की जाती रही है। अधिकारियों ने कहा कि FIA ने गिरफ्तार किए गए चीनी नागरिकों के चार पाकिस्तानी साथियों को भी पकड़ लिया। एफआईए ने कहा है कि पाकिस्तानी एजेंटों की पहचन कर ली गई है। उनके नाम हैं, क़ैसर, काशिफ़ नवाज़, इस्माइल यूसुफ और ज़ाहिद मुसेह। इनमें से एक पंजाब पुलिस अधिकारी का बेटा है, जो छापेमारी के समय भाग गया था। अधिकारियों ने कहा कि संदिग्ध रिंग लीडर ने इस मामले में 13 मई तक अंतरिम जमानत हासिल कर ली है। आपको बता दें कि तस्करों का पता लगाने के लिए, एफआईए के अधिकारियों ने एक शादी में भी भाग लिया था और संदिग्ध चीनी नागरिकों के विवरण एकत्र किए थे। संदिग्धों ने लड़कियों के परिवारों को 50-50 हजार रुपये भेजे, जो तस्करी के एवज में थे।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned