चीन ने दिया पाक को करारा झटका, पाकिस्तानी लड़कियों के साथ गलत काम के आरोपों से इनकार

चीन ने दिया पाक को करारा झटका, पाकिस्तानी लड़कियों के साथ गलत काम के आरोपों से इनकार

Siddharth Priyadarshi | Publish: May, 10 2019 03:42:04 PM (IST) | Updated: May, 10 2019 07:25:14 PM (IST) एशिया

  • पाकिस्तानी लड़कियों के साथ चीन में हो रहे हैं कई गलत काम
  • पाकिस्तान में गिरफ्तार हो चुके हैं 12 चीनी नागरिक
  • पाकिस्तान की संघीय जांच एजेंसी कर रही है मामले की जांच

इस्लामाबाद। चीन ने पाकिस्तान को एक जोरदार झटका दिया है। इस्लामाबाद स्थित चीनी दूतावास का कहना है कि पाकिस्तान की लड़कियों के साथ चीन में वेश्यावृत्ति नहीं कराई जाती। दूतावास ने इस बात की सफाई दी कि अवैध तरीके से विवाह कर चीन ले जाए गई लड़कियों के अंगों का व्यापार नहीं किया गया है। चीनी दूतावास ने कहा है कि यह कोई सामूहिक अपराध का मामला नहीं है और कुछ अपराधियों को पाकिस्तान के साथ चीन की दोस्ती को कम करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

पाकिस्तान को उम्मीद, SCO सम्मेलन में मिलेंगे सुषमा स्वराज और शाह महमूद कुरैशी

पाक को करारा झटका

चीनी दूतावास ने गुरुवार को मीडिया रिपोर्टों का खंडन किया और कहा कि पाकिस्तान की महिलाओं को वेश्यावृत्ति या मानव अंगों की बिक्री के लिए मजबूर नहीं किया गया है। दूतावास ने एक बयान में कहा, "चीन के सार्वजनिक सुरक्षा मंत्रालय की जांच के अनुसार पाकिस्तानी महिलाओं को मानव अंगों के व्यापार और जबरन वेश्यावृत्ति में नहीं झोंका जाता।" बयान में यह भी कहा गया है कि कुछ अपराधियों को पाकिस्तान के साथ चीन की दोस्ती को कमजोर करने और दोनों देशों के लोगों के बीच मित्रतापूर्ण भावनाओं को आहत करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। आपको बता दें कि पाक के पंजाब में संघीय जांच एजेंसी (FIA) ने पाकिस्तानी महिलाओं को नकली विवाह में फंसाने के आरोपी 12 चीनी नागरिकों को गिरफ्तार किया है।

नेपाल ने दिया भारत को झटका, इसलिए चीन से बढ़ा लीं नजदीकियां

वेश्यावृत्ति और मानव अंगों के व्यापार से इनकार

दूतावास ने स्पष्ट किया कि ट्रांसनेशनल विवाह के मुद्दे पर चीन वैध विवाह और अपराधों से निपटने के कई कदम उठाता आया है। अगर कोई भी संगठन या व्यक्ति शादी के नाम पर पाकिस्तान में अपराध करता है, तो पाकिस्तानी कानूनों के अनुसार चीन उस पर नकेल कसने के लिए पाकिस्तानी का समर्थन करता है।" दूतावास के बयान में कहा गया है कि चीन पाकिस्तान में कानून प्रवर्तन एजेंसियों के साथ सहयोग को और मजबूत करेगा, ताकि अपराध का प्रभावी ढंग से मुकाबला किया जा सके। आपको बता दें कि इस मामले का पटाक्षेप तब हुआ जब इस हफ्ते की शुरुआत में गुजरांवाला की एक महिला ने चीन से भागकर पाकिस्तान लौटने के बाद एक चीनी व्यक्ति के साथ अपने निकाह को रद्द करने की मांग करते हुए एक स्थानीय अदालत का दरवाजा खटखटाया।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned