China के रिमोट सेंसिंग सैटेलाइट की लॉन्चिंग हुई फेल, विफलता के सटीक कारणों की हो रही जांच

Highlights

  • चीन की सरकारी मीडिया ग्लोबल टाइम्स के अनुसार रॉकेट के असामन्य प्रदर्शन के कारण यह अभियान असफल रहा।
  • बीते सोमवार को एक सेटेलाइट की लॉचिंग के समय एक बड़ी दुघर्टना होते—होते बची थी।

By: Mohit Saxena

Updated: 13 Sep 2020, 10:14 AM IST

बीजिंग। चीन लगातार अपने अंतरिक्ष मिशन पर जोर देर रहा है। शनिवार को उसने अपने रिमोट सेंसिंग सैटेलाइट जिलिन-एक गोफेन 02-सी(Jilin-1 Gaofen-02C Satellite) को लॉन्च किया था। मगर वह कक्षा में पहुंचने से चूक गया। इस सैटेलाइट को स्थानीय समयानुसार शनिवार दोपहर एक बजकर दो मिनट पर जिकुआन उपग्रह के प्रक्षेपण केंद्र से लॉन्च किया गया था। चीन की सरकारी मीडिया ग्लोबल टाइम्स के अनुसार रॉकेट के असामन्य प्रदर्शन के कारण यह अभियान असफल रहा है। उसका कहना है कि इसकी विफलता के सटीक कारणों की जांच हो रही है।

सोमवार को गिरा था चीनी रॉकेट का बूस्टर

इसे पहले बीते सोमवार को एक सेटेलाइट की लॉचिंग के समय एक बड़ी दुघर्टना होते—होते बची थी। अर्थ ऑब्जरवेशन सैटेलाइट गॉफन 11 (Gaofen 11 Satellite) की लॉन्चिंग के दौरान रॉकेट का बूस्टर अचानक आसमान से एक स्कूल के पास गिरा। हालांकिे इसमें किसी तरह के जानमाल का नुकसान नहीं हुआ है। ये बूस्टर्स बहुत ज्वलनशील जेट फ्यूल से भरा होता है। यह किसी घातक मिसाइल जितनी चोट पहुंचा सकता है।

चीनी वैज्ञानिकों की लापरवाही से दुर्घटना हुई

आमतौर पर जब कोई सैटेलाइट अंतरिक्ष में भेजा जाता है तो उसके रॉकेट को शक्ति देने वाले बूस्टर्स को लेकर सावधानी बरतनी होती है। ये बूस्टर्स धरती के गुरुत्वाकर्षण से खींचकर रॉकेट को बाहर ले जाते हैं। जब इनका काम या इनका फ्यूल खत्म हो जाता है तो इन्हें रॉकेट से अलग कर दिया जाता है। इस दौरान वैज्ञानिक इस बात का ख्याल रखते हैं कि रॉकेट से अलग होने के बाद गिरते समय ये बूस्टर्स किसी रिहायशी क्षेत्र में न गिरें।

स्कूल के पास गिरा रॉकेट का बूस्टर

इस घटना के बाद एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें आसमान से रॉकेट का बूस्टर गिरते हुए दिखाया गया है। यह बूस्टर तेजी से जमीन की तरफ गिरता है। इस दौरान वीडियों शूट कर रहे लोग अपनी जान बचाने के लिए भागने लगते हैं। जिस स्थान पर बूस्टर गिरा था, वहा पर एक बड़ा गढ्ढा बन जाता है और कुछ सेकेंड बाद गहरा धुआं निकलता दिखाई देता है। इस हादसे में किसी को कोई चोट तो नहीं आई मगर कोई बड़ी अनहोनी का खतरा बना रहता है।

गुप्त गतिविधियों पर नजर रखने में सक्षम

चीन के शक्तिशाली गॉफन सैटेलाइट को उत्तरी चीन के ताइयुआन सैटेलाइट लॉन्च सेंटर से लॉन्च किया गया था। इसे सोमवार को प्रक्षेपित किया गया था। यह एक अर्थ ऑब्जरवेशन सैटेलाइट है। इससे गुप्त गतिविधियों पर नजर रखी जात सकती है। इस सैटेलाइट में कई हाई रिज्योलूशन के कैमरे भी लगे हैं। ये काफी हाइट से भी बेहतर तस्वीर भेज सकता है।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned