scriptChinese Couple break Government Rule and policy now they fined 1 crore rupees | चीन में दंपती को महंगा पड़ा सरकारी नियम का उल्लंघन, जानिए क्यों भरना पड़ा 1 करोड़ रुपए का जुर्माना | Patrika News

चीन में दंपती को महंगा पड़ा सरकारी नियम का उल्लंघन, जानिए क्यों भरना पड़ा 1 करोड़ रुपए का जुर्माना

  • चीन में दंपती ने तोड़ा सरकारी नियम
  • नियम उल्लंघन पर चुकानी पड़ी 1 करोड़ रुपए से भी ज्यादा की राशि

नई दिल्ली

Published: February 27, 2021 11:08:10 am

नई दिल्ली। सरकारी नियमों का उल्लंघन कितना भारी पड़ सकता है इसका एक उदाहरण चीन ( China ) में देखने को मिला है। जहां एक दंपती को सरकार की ओर जारी नियमों और नीतियों को तोड़ना काफी महंगा पड़ गया। दरअसल चीन में रहने वाले एक दंपत्ति ने दो बच्चों वाली नीति का उल्लंघन करते हुए सात बच्चे पैदा कर दिए।
Chinese couple fine 1 crore
चीन में दंपती ने तोड़ा सरकारी नियम तो भरना पड़ा 1 करोड़ का जुर्माना
बस फिर क्या था, चीनी सरकार की इस नीति के उल्लंघन के दंड स्वरूप इस दंपती को भारी भरकम रकम चुकानी पड़ी है। आईए जानते हैं क्या है पूरा मामला।

देश के कई राज्यों में तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामले, केंद्र सरकार ने राज्यों को जारी किए अहम निर्देश
इसलिए चुकानी इतनी भारी रकम
चीन 34 वर्षीय महिला उद्यमी ज्हांग रोंगरोंग और उनके 39 साल के पति के बच्चों में पांच लड़के और दो लड़कियां हैं। इस दंपती ने चीन की जनसंख्या नियंत्रण ( China Population Control ) की सबसे बड़ी नीति का उल्लंघन किया। लिहाजा इन्हें सोशल सपोर्ट फीस ( जो इस नियम या नीति के उल्लंघन के तौर पर सरकार की ओर से निर्धारित है) देना पड़ी।
अगर ये दंपती ये फीस नहीं देता तो उनके बाकी के पांच बच्चों को सरकारी पहचान से जुड़े दस्तावेज नहीं दिए जाते। इसका खामियाजा उनके भविष्य पर तो पड़ता ही साथ ही उन्हें देश छोड़ने पर भी मजबूर कर सकता था।
इसलिए तोड़ा सरकारी नियम
ज्हांग का स्किनकेयर, जूलरी और कपड़ों का बिजनेस है और उनकी कंपनियां दक्षिण-पूर्वी चीन में स्थित हैं। ज्हांग ने बताया कि आखिर उन्होंने इस नियम का उल्लंघन क्यों किया। उन्होंने कहा कि वे कई बच्चे चाहती थीं क्योंकि उन्हें अकेलेपन से काफी ज्यादा परेशानी होती है और वे कभी अकेले नहीं रहना चाहतीं।
ज्हांग ने कहा कि जब मेरे पति अपनी बिजनेस ट्रिप के लिए बाहर होते हैं तो मुझे काफी परेशानी होती थी। मेरे बड़े बच्चे पढ़ाई के लिए दूसरे शहरों में जा चुके हैं। ऐसे में छोटे बच्चे ही मेरे साथ रहते हैं। उन्होंने कहा कि सात बच्चों के बाद अब वे और कोई संतान नहीं करने वाले हैं।
ज्हांग ने आगे कहा कि हमने इन बच्चों की प्लानिंग करने से पहले यह सुनिश्चित किया था कि हम आर्थिक तौर पर संपन्न रहें ताकि उन्हें आर्थिक सुरक्षा दे पाएं।

चीन ने कब बनाई नीति
आपको बता दें कि चीन ने 1979 में एक बच्चे की नीति शुरू की थी। 36 साल बाद साल 2015 में उसने इस नीति को खत्म करके दो बच्चों की नीति को लागू कर दिया था।
पश्चिम बंगाल में चुनाव की तारीखों के एलान के बाद बीजेपी को बड़ा झटका, हिंसक वारदात में हुआ ये नुकसान

इतनी राशि का लगा जुर्माना
साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट की खबर के मुताबिक दंपत्ति को सात बच्चे पैदा करने की वजह से 1 लाख 55 हजार डॉलर्स यानी 1 करोड़ से अधिक की राशि सोशल सपोर्ट फीस के तौर पर देनी पड़ी है।
आपको बता दें कि एक बच्चे की नीति के कारण चीन में जन्म दर घट रही है और साल 2019 में हजारों लोगों पर केवल 10 जन्मदर रह गई थी, जो 70 सालों में सबसे कम है।
कई विशेषज्ञों का मानना है कि चीन में घटती जन्मदर और बूढ़े लोगों की जनसंख्या जनसांख्यिकीय तौर पर काफी खतरनाक साबित हो सकती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

'हर घर तिरंगा' अभियान में शामिल हुई PM नरेंद्र मोदी की मां हीराबेन, बच्‍चों के संग फहराया राष्‍ट्रीय ध्‍वज7,500 स्टूडेंट्स ने मिलकर बनाया सबसे बड़ा ह्यूमन फ्लैग, गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हुआ नामबिहारः सत्ता गंवाते ही NDA के 3 सांसद पाला बदलने को तैयार, महागठबंधन में शामिल होने की चल रही चर्चा'फ्री रेवड़ी ' कल्चर व स्कूल के मुद्दे पर संबित्र पात्रा ने AAP को घेरा, कहा- 701 स्कूलों में प्रिंसिपल नहीं, 745 स्कूलों में नहीं पढ़ाया जाता विज्ञानPM मोदी ने कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा लेने वाले दल से मुलाकात की, कहा- विजेताओं से मिलकर हो रहा गर्वप्रियंका के बाद अब सोनिया गांधी भी दोबारा हुईं कोरोना पॉजिटिव, तेजस्वी यादव ने कल ही की थी मुलाकातजम्मू कश्मीर में टेरर लिंक मामले में बिट्टा कराटे की पत्नी समेत चार सरकारी कर्मचारी बर्खास्त2009 में UPSC किया टॉप, 2019 में राजनीति के लिए नौकरी छोड़ी, अब 2022 में फिर कैसे IAS बने शाह फैसल?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.