Russia के बाद China में बनी Corona Vaccine, चीनी सैनिकों को टीका लगाने का अभियान शुरू

HIGHLIGHTS

  • रूस ( Russia ) ने दुनिया की पहला कोरोना वैक्सीन ( Coronavirus Vaccine ) बन जाने की घोषणा कर दी है।
  • चीन ( China ) भी अपने सैनिकों ( पीपल्स लिब्रेशन आर्मी, PLA ) को टीका लगाना शुरू कर दिया है।

By: Anil Kumar

Updated: 12 Aug 2020, 07:44 AM IST

बीजिंग। कोरोना महामारी ( Coronavirus Epidemic ) से पूरी दुनिया जूझ रही है, लेकिन कोरोना को हराने के लिए दुनियाभर के शोधकर्ता वैक्सीन बनाने की दिशा में कार्य कर रहे हैं। इसी कड़ी में मंगलवार को रूस ( Russia ) ने दुनिया की पहला कोरोना वैक्सीन ( Coronavirus Vaccine ) बनाने का दावा किया है। वहीं चीन ( China ) से भी एक बड़ी खबर सामने आई है।

दरअसल, चीन ने भी कोरोना वैक्सीन बना ली है और इतना ही नहीं, अपने सैनिकों ( पीपल्स लिब्रेशन आर्मी, PLA ) को टीका लगाना भी शुरू कर दिया है। हालांकि चीन की ओर से सार्वजनिक तौर पर इसका दावा नहीं किया है। मीडिया रिपोर्ट में ये दावा किया गया है कि चीन ने कोरोना वैक्सीन बनाकर उसे पीपल्‍स ल‍िबरेशन आर्मी के सैनिकों के लिए मास वैक्सीनेशन का काम शुरू भी कर दिया है।

दुनिया में Russian Corona Vaccine की मांग तेज, 20 देशों से 1 अरब डोज का मिला ऑर्डर

रिपोर्ट के मुताबिक, चीन ने वैक्सीन के तीसरे ट्रायल के नतीजे आने से पहले ही सैनिकों का मास वैक्सीनेशन प्रोग्राम शुरू कर दिया है। चाइना पॉलिसी सेंटर ( China Policy Center ) के डायरेक्‍टर एडम नी का कहना है कि चीनी सेना के अंदर जैविक और संक्रामक बीमारियों से लड़ने की काबिल‍ियत है और चीनी नेता इसका पूरा फायदा उठा रहे हैं।

चीन में CanSino की वैक्सीन सबसे आगे

चीनी मीडिया के मुताबिक, CanSino की कोरोना वायरस वैक्‍सीन चीन में सबसे आगे है। रिपोर्ट के मुताबिक, चीनी वैक्‍सीन के लिए डॉक्‍टर चेन वेई की तारीफ हो रही है। हालांकि डॉक्‍र चेन की इस वैक्‍सीन को बनाने में कोई आधिकारिक भूमिका नहीं है। इससे पहले उ‍न्‍होंने कंपनी के लिए इबोला की वैक्‍सीन बनाई थी।

दुनिया के 21 में से 8 वैक्सीन चीन की

विश्व स्वास्थ्य संगठन ( WHO ) की रिपोर्ट के मुताबिक, पूरी दुनिया में 100 से अधिक वैक्सीन पर रिसर्च चल रही है। इसमें से क्लिनिकल ट्रायल में सबसे आगे 21 वैक्सीन चल रही हैं। इस 21 में से 8 चीन के वैक्‍सीन हैं। चीनी सेना एक और वैक्‍सीन को बनाने में मदद कर रही है।

Russia ने बनाया दुनिया का पहला Corona वैक्सीन, President Putin की बेटी को लगाया गया पहला टीका

फिलहाल, पूरी दुनिया में चीन के अलावा अब तक किसी भी देश ने कोरोना की प्रायोगिक वैक्‍सीन अपने सैनिकों या आम नागरिकों में से किसी पर इस्तेमाल नहीं किया है। रिपोर्ट के मुताबिक, चीन में 741 गैर सैन्‍य शोधकर्ता पीएलए में काम कर रहे हैं। अभी तक चीनी सरकार की ओर से कोरोना वैक्सीन ( Corona Vaccine ) की सफलता को लेकर कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned