आपदा में बर्बाद हुए इंडोनेशियाई किसानों और मछुआरों की मदद करेगा एफएओ, शुरू किया ये कार्यक्रम

यहां एक महीने पहले एक के बाद एक आई आपदाओं ने लोगों की जिंदगियां बर्बाद कर दी हैं।

By: Shweta Singh

Published: 06 Nov 2018, 06:08 PM IST

रोम। संयुक्त राष्ट्र खाद्य एवं कृषि संगठन (एफएओ) ने 70 हजार से ज्यादा किसानों और मछुआरों की मदद के लिए एक कार्यक्रम की शुरुआत की है। दरअसल संगठन ने फिर से खाद्य व मछली उत्पादन में मदद करने के लिए एक रिकवरी कार्यक्रम शुरू किया है। दरअसल यहां एक महीने पहले एक के बाद एक आई आपदाओं ने लोगों की जिंदगियां बर्बाद कर दी हैं।

दशक के सबसे विनाशकारी भूकंप के बाद रिकवरी कार्यक्रम

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक एफओए ने सोमवार को एक बयान में कहा कि देश में आए दशक के सबसे विनाशकारी भूकंप, सुनामी और उसके बाद हुए भूस्खलन ने लोगों के घरों व जमीनों को तबाह कर दिया। इनके कारण बहुत सी जानें गईं और व्यापक विस्थापन हुआ। बस इसी की भरपाई करने की कोशिश में ये कार्यक्रम शुरू किया जा रहा है।

अगले तीन महीनों का लक्ष्य

बताया जा रहा है कि एफएओ का लक्ष्य अगले तीन महीनों में 50 हजार किसानों को सब्जी के बीज, खाद और छोटे उपकरण जैसे बेलचा व कुदाल पहुंचाना है। इसके अलावा 20 हजार मछुआरों को मछली पकड़ने की किट पहुंचाई जाएगी। वहीं मध्य सुलवेसी प्रांत के डोंग्गाला, सिगी, पालु और पारिगी मौतुंग में रह रहे लोग आपदा से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं।

गर्भवती महिलाओं और पांच वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए कार्यक्रम

इसके अलावा एफएओ चार हजार गर्भवती महिलाओं और पांच वर्ष से कम उम्र के बच्चों की माताओं मदद के लिए नकद सहायता योजना भी शुरू करने जा रहा है, ताकि उन्हें पौष्टिक भोजन मिल सके। इंडोनेशिया में एफएओ के प्रतिनिधि स्टीफन रूडगार्ड ने कहा, 'मध्य सुलवेसी में परिवार कृषि व मछली पकड़ने पर अत्याधिक निर्भर हैं। इनमें से अधिकतर के लिए यही उनके खाने व आय का एकमात्र स्त्रोत है।'

Show More
Shweta Singh Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned