हांगकांग: शांत नहीं हुआ लोगों का गुस्सा, पुलिस के साथ संघर्ष के बाद 6 लोग हिरासत में

  • विवादित प्रत्यर्पण बिल ( Hong Kong Extradition Bill ) को लेकर हजारों ने हांगकांग में फिर निकाला मार्च
  • इस बार चीनी पर्यटकों के सामने उठाया बिल का मुद्दा

By: Shweta Singh

Updated: 08 Jul 2019, 04:40 PM IST

हांगकांग। हांगकांग में एक बार फिर विवाद भड़कउठा है। विवादित प्रत्यर्पण बिल ( Hong Kong Extradition bill ) के खिलाफ करीब हांगकांग में महीने भर से प्रदर्शन जारी है। रविवार को हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारियों ने एक रेलवे स्टेशन और अन्य प्रसिद्ध टूरिस्ट स्पॉट तक रैली निकालकर चीन के लोगों से संपर्क साधने की कोशिश की।

प्रदर्शनकारियों का मकसद चीन से आए लोगों से उनके इस संघर्ष में सहयोग हासिल करना था। लेकिन यह विरोध प्रदर्शन हिंसक हो गया और प्रदर्शनकारियों की पुलिस से जमकर झड़पें हुई। बाद में पुलिस ने 6 लोगों को हिरासत में ले लिया।

एक महीने से जारी है बिल के खिलाफ प्रदर्शन

हांगकांग में पिछले एक महीने से इस तरह का प्रदर्शन चल रहा है। बीते सोमवार को प्रदर्शनकारियों ने संसद में भी घुसने का प्रयास किया था। इनका मुख्य मकसद उस बिल को खारिज कराना है, जिसके तहत हांगकांग के संदिग्धों और आरोपियों को चीन प्रत्यर्पित करने का प्रावधान रखा गया है। हांगकांग के लोग और कई जानकार इस हांगकांग की कानून व्यवस्था की आजादी पर खतरा बताते हैं।

Hong kong Protest

विरोध बढ़ने के बाद हुआ था बिल सस्पेंड करने का ऐलान

विरोध बढ़ने का काफी बाद कुछ हफ्ते पहले हांगकांग की सुप्रीम लीडर कैरी लैम ने इस अनिश्चितकाल तक के लिए टालने का ऐलान किया था। इसके साथ ही उन्होंने लोगों से बिल के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हुए परेशानियों को लेकर माफीनामा भी पेश किया था।

हांगकांग: हैंडओवर डे पर जमकर उपद्रव, पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को विधान परिषद से बाहर निकाला

चीन के लोगों को हो प्रदर्शन के बारे में जानकारी

सस्पेंशन के बाद भी नाखुश हांगकांग के लोगों की मांग है कि बिल को स्थाई रूप से निरस्त किया जाए। इसके साथ ही अब, पुलिस की ओर से आंसू गैस और रबड़ की गोलियों के इस्तेमाल की स्वतंत्र जांच, गिरफ्तार लोगों के लिए माफी और गैर निर्वाचित नेता कैरी लैम के पद से इस्तीफा देने की मांग ने जोर पकड़ लिया है। आयोजकों की माने तो रविवार को हुए मार्च सिम शा सूई में ढाई लाख से अधिक लोग सड़कों पर आए थे। सिम शा सूई में काफी संख्या में चीनी पर्यटक घूमने आते हैं। आयोजकों का उद्देश्य था कि प्रोटेस्ट मार्च के जरिए वो चीन के लोगों को इस प्रदर्शन के कारण और इसकी गंभीरता से अवगत करा सकें।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर...

 

Show More
Shweta Singh Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned