IELTS चाइना ने Coronavirus की वजह से मार्च में होने वाली सभी परीक्षाएं रद्द करने की घोषणा की

  • मार्च में चीन में होने वाली TILF परीक्षाओं के बारे में अभी घोषणा नहीं हुई है
  • अमरीका ( America ) के अधिकतर विश्वविद्यालयों के प्रवेश आवेदन का समय जनवरी में समाप्त हो चुकी है

Anil Kumar

15 Feb 2020, 07:54 PM IST

बीजिंग। चीन ( China ) में जानलेवा कोरोना वायरस ( Coronavirus ) का प्रकोप जारी है और इसकी वजह से हाहाकार मचा हुआ है। इस वायरस के कारण चीन समेत पूरी दुनिया प्रभावित हो रही है।

इसी कड़ी में इंटरनेशनल इंग्लिश लैंग्वेज टेस्टिंग सिस्टम ( IELTS ) चाइना ने कोरोना वायरस की वजह से मार्च में आयोजित होने वाली अपनी सभी परीक्षाओं को रद्द करने और परीक्षार्थियों को फीस रिफंड करने की प्रक्रिया शुरू करने की घोषणा की है।

चीन: Coronavirus से ग्रसित मरीजों के इलाज के लिए हुबेई में खोले गए 9 अस्थाई अस्पताल

IELTS ने यह कदम कोरोनावायरस को ध्यान में रखते हुए परीक्षार्थियों की सुरक्षा और स्वास्थ्य के मद्देनजर उठाया है। एक बयान में शुक्रवार को इसकी जानकारी दी गई। दूसरी ओर, बड़े विदेशी विश्वविद्यालयों में प्रवेश लेने के लिए लेंग्वेज टेस्ट-TILF ने भी 28 जनवरी को फरवरी के अंत तक अपनी परीक्षाओं को रद्द करने की घोषणा की थी।

हालांकि मार्च में चीन में होने वाली TILF परीक्षाओं के बारे में अभी घोषणा नहीं हुई है। इन परीक्षाओं के भी रद्द होने की संभावना है।

चीनी छात्रों के लिए कई यूनिवर्सिटी में बढ़ सकती है समयसीमा

भाषा प्रशिक्षण और विदेशी अध्ययन कंसल्टेंसी न्यू चैनल इंटरनेशनल एजुकेशन ग्रुप लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) ली जुनजी ने चीनी समाचार अखबार ग्लोबल टाइम्स से कहा, 'लैंग्वेज टेस्ट के रद्द होने से उन चीनी छात्रों पर प्रभाव नहीं पड़ेगा जो विदेश में पढ़ना चाहते हैं।’ चीनी छात्र मुख्यत: अमरीका, ब्रिटेश और ऑस्ट्रेलिया पढ़ने के लिए जाते हैं।

ली के अनुसार, अमरीका के अधिकतर विश्वविद्यालयों के प्रवेश आवेदन का समय जनवरी में समाप्त हो चुकी है। इसलिए अमरीका में पढ़ने की चाह रखने वाले छात्रों पर लैंग्वेज टेस्ट रद्द होने का कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। ब्रिटेन में विश्वविद्यालय लैंग्वेज टेस्ट के नतीजों को जुलाई तक स्वीकार करते हैं और तबतक छात्र इंतजार कर सकते हैं। हालांकि जुलाई में ऑस्ट्रेलियाई विश्वविद्यालयों में प्रवेश लेने के इच्छुक छात्र इससे प्रभावित हो सकते हैं।

तनाव के बीच अमरीका न? coronavirus us से निपटने के लिए उत्तर कोरिया को की मदद की पेशकश

वहीं कुछ विदेशी विश्वविद्यालय चीनी छात्रों की मदद करने के लिए अपने दाखिले की समयसीमा में विस्तार करने पर विचार कर रहे हैं। चीनी छात्रों को संबोधित करते हुए एडनबर्ग विश्वविद्यालय ने अपने पत्र में कहा कि अगर टेस्ट सेंटर बंद रहते हैं तो विश्वविद्यालय दाखिले के लिए अपनी समयसीमा में विस्तार करने पर विचार कर सकता है।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

coronavirus Coronavirus in China Coronavirus Outbreak
Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned