इमरान खान ने कबूला मुंबई हमले का गुनाह, कहा- पाकिस्तान की धरती पर रची गई हमले की साजिश

इमरान खान ने कबूला मुंबई हमले का गुनाह, कहा- पाकिस्तान की धरती पर रची गई हमले की साजिश

Mangala Prasad Yadav | Publish: Dec, 08 2018 08:20:41 PM (IST) एशिया

अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अलग-थलग होने के बाद पाकिस्तान अब अपनी छवि सुधारने में लगा है।

इस्लामाबादः अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अलग-थलग होने के बाद पाकिस्तान अब अपनी छवि सुधारने में लगा है। एक अमरीकी अखबार को दिए साक्षात्कार में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक तरह से कबूल किया है कि 2008 के मुंबई हमले की साजिश पाकिस्तान में ही रची गई थी। उन्होंने कहा है कि उनकी सरकार मुंबई हमले के दोषियों को न्याय के कटघरे में लाना चाहती है। इमरान ने कहा कि इस केस की स्थिति को जानने के लिए संबंधित अधिकारियों को आदेश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि इस केस को सुलझाना जरूरी है, क्योंकि यह एक आतंकी हमला था। इमरान खान ने कहा कि वह चाहते हैं कि मुंबई हमले के पीड़ितों को न्याय मिले। इमरान के इस बयान से साफ हो गया है कि पाकिस्तान ने यह मान लिया है कि मुंबई हमले की साजिश उसी के ही धरती पर रची गई। इससे पहले पाकिस्तान मुंबई हमले में अपना हाथ होने से इनकार करता रहा है।

नवाज शरीफ ने भी कबूला था गुनाह
इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने भी एक अखबार को दिए साक्षात्कार में मुंबई हमले में पाकिस्तान का हाथ होना स्वीकार किया था। नवाज ने कहा था कि मुंबई हमले के लिए पाकिस्तान की धरती से ही आतंकी गए थे। शरीफ के इस बयान के बाद पाकिस्तान में तहलका मच गया था। अब देखना है कि इमरान खान के इस कबूलनामे के बाद पाकिस्तानी सेना का क्या रुख रहता है।

भारत के रूख से इमरान हुए मजबूर
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बनने के बाद इमरान खान कई बार भारत के साथ फिर से बातचीत शुरू करने की वकालत कर चुके हैं। अभी हाल में ही पाकिस्तान ने करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास में शामिल होने के लिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को निमंत्रण दिया था। दो केंद्रीय मंत्रियों के भेजने के बाद भारत ने यह साफ कर दिया था कि जब तक पाकिस्तान अपनी धरती से आतंकवाद को बढ़ावा देना नहीं बंद करेगा तब तक उसके साथ बातचीत नहीं की जा सकती। भारत के इस रूख से ही परेशान होकर इमरान खान ने मुंबई हमले के दोषियों पर कार्रवाई की बात कही है।

2008 को हुआ था मुंबई में हमला
बता दें कि 26 नवंबर, 2008 को हथियारों से लैस लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों ने मुंबई के ऐतिहासिक ताज होटल पर हमला किया था। इसके अलावा शहर के कई इलाकों को निशाना बनाया था। इस आतंकी हमले में करीब 166 लोग मारे गए थे जबकि 300 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे। इस हमले का मास्टरमाइंड हाफिज सईद पाकिस्तान में खुलेआम घूम रहा है। अब इमरान के इस बयान के बाद सवाल उठने लगा है कि क्या पाकिस्तान सरकार हाफिज सईद पर कार्रवाई करेगी।

Ad Block is Banned