बड़ा खुलासाः पाकिस्तान बन सकता है विश्व का पांचवां सबसे बड़ा परमाणु संपन्न राष्ट्र

बड़ा खुलासाः पाकिस्तान बन सकता है विश्व का पांचवां सबसे बड़ा परमाणु संपन्न राष्ट्र

Amit Kumar Bajpai | Publish: Sep, 06 2018 12:19:33 PM (IST) एशिया

दुनिया भर के मुल्कों में मौजूद परमाणु हथियारों से जुड़ी पुख्ता जानकारी रखने वाली एक संस्था की रिपोर्ट में पाकिस्तान को लेकर बड़ा खुलासा किया गया है।

नई दिल्ली। दुनिया भर के मुल्कों में मौजूद परमाणु हथियारों से जुड़ी पुख्ता जानकारी रखने वाली एक संस्था की रिपोर्ट में पाकिस्तान को लेकर बड़ा खुलासा किया गया है। इस रिपोर्ट की मानें तो पाकिस्तान दुनिया का पांचवां सबसे बड़ा परमाणु हथियार संपन्न राष्ट्र बनने वाला है। इस रिपोर्ट में बताया गया है कि मौजूदा वक्त में पाकिस्तान के पास करीब 150 परमाणु हथियार हैं। अगर यही रफ्तार बनी रही तो पड़ोसी देश के पास 2025 तक करीब 250 परमाणु हथियारों का भंडार हो जाएगा।

इस संबंध में हैंस एम क्रिस्टनसेन, जूलिया डायमंड और रॉबर्ट एस नोरिस ने 'पाकिस्तान न्यूक्लियर फोर्सेज 2018' की रिपोर्ट में जानकारी दी है। इस रिपोर्ट में बताया गया है कि अमरीकी रक्षा खुफिया एजेंसी ने तकरीबन दो दशक पहले वर्ष 1999 में पाकिस्तान के पास 140-150 परमाणु हथियार होने का आंकलन किया था। इसी दौरान एजेंसी ने यह भी दावा किया था कि 2020 तक पाकिस्तान उस वक्त मौजूद हथियारों में 60 से 80 परमाणु हथियारों को और जोड़ लेगा।

 

nuclear weapons

हालांकि, इस ताजा रिपोर्ट की मानें तो पाकिस्तान के पास फिलहाल 140 से लेकर 150 परमाणु हथियार हैं। अगर पाकिस्तान इसी रफ्तार से हथियार बनाता रहता है तो वर्ष 2025 तक इसके पास 220 से लेकर 250 परमाणु हथियार हो जाएंगे। और अगर ऐसा हुआ तो पाकिस्तान दुनिया का पांचवां सबसे बड़ा परमाणु हथियार संपन्न राष्ट्र बन जाएगा।

इस रिपोर्ट के प्रमुख लेखक हैंस एम क्रिस्टनसेन वाशिंगटन डीसी स्थित फेडरेशन ऑफ अमरीकन साइंटिस्ट्स (एफएएस) के न्यूक्लियर इंफॉर्मेशन प्रोजेक्ट के निदेशक हैं। रिपोर्ट के मुताबिक विशेषरूप से टैक्टिकल न्यूक्लियर वेपंस को पेश करने के बाद, पिछले एक दशक के दौरान पाकिस्तान में परमाणु हथियारों की सुरक्षा को लेकर अमरीकी आंकलन विश्वास से बदलकर चिंता का विषय हो गया है।

इसमें बताया गया है कि पाकिस्तान लगातार ज्यादा वारहहेड्स के साथ अपने परमाणु हथियार, डिलीवरी सिस्टम्स में ईजाफा कर रहा है, और इसकी फिसाइल मैटेरियल्स प्रोडक्शन इंडस्ट्री भी बढ़ रही है। हालांकि, रिपोर्ट के लेखक परमाणु हथियारों में ईजाफे को कई बातों पर निर्भर मानते हैं। इनमें दो सबसे प्रमुख कारकों में से पहला यह है कि पाकिस्तान कितने परमाणु सक्षम लॉन्चर तैनात करना चाहता है और दूसरा भारत की परमाणु हथियार क्षमता कितनी बढ़ती है।

Ad Block is Banned