कोरोना की दूसरी लहर से भारत में हाहाकार, खुद संक्रमण से जूझ रहे पाकिस्तान ने की मदद की पेशकश

पाकिस्तान के ईदी फाउंडेशन ने भारत में कोरोना मरीजों की मदद करने का ऑफर दिया है। इस संबंध में ईदी फाउंडेशन ने पीएम मोदी को पत्र लिखा है।

By: Anil Kumar

Published: 23 Apr 2021, 03:28 PM IST

इस्लामाबाद। कोरोना महामारी के प्रकोप से पूरी दुनिया जूझ रही है और लगातार संक्रमण के रिकॉर्डतोड़ बढ़ते मामलों ने चिंताएं बढ़ा दी है। भारत में कोरोना की दूसरी लहर से हाहाकार मचा है। अब दैनिक संक्रमितों की संख्या 3 लाख को पार कर गई है।

ऐसी विषम परिस्थिति में दुनियाभर से भारत को मदद की पेशकश की जा रही है। पहले चीन ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में मदद की पेशकश की तो वहीं अब खुद कोरोना महामारी से जूझ रहे पाकिस्तान से मदद की पेशकश आई है।

यह भी पढ़ें :- मुख्यमंत्री पलनीस्वामी ने पीएम को पत्र लिखा, 20 लाख कोरोना वैक्सीन की मांग की

दरअसल, कोरोना के खिलाफ लड़ाई में पाकिस्तान से भारत की मदद के लिए ईदी फाउंडेशन सामने आया है। ईदी फाउंडेशन ने भारत में कोरोना मरीजों की मदद करने का ऑफर दिया है। इस संबंध में शुक्रवार को ईदी फाउंडेशन के चेयरमैन फैसल ईदी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है। इस पत्र में उन्होंने पीएम मोदी को भारत में अपनी टीम भेजकर मदद की पेशकश की है।

50 एंबुलेंस लेकर भारत आने की मांगी इजाजत

ईदी फाउंडेशन के चेयरमैन ने अपने पत्र में कहा है कि उनकी टीम के वॉलेंटियर्स 50 एंबुलेंस के साथ भारत आकर कोरोना मरीजों की मदद करना चाहती है। उन्होंने आगे लिखा है कि भारत में कोरोना महामारी का जो असाधारण प्रभाव पड़ा है, उसे जाकर हमें अफसोस हो रहा है। भारत में काफी संख्या में लोग इस कष्ट को झेल रहे हैं.. ऐसे में हम इस संकट की घड़ी में 50 एंबुलेंस के बेडे को भेजकर मदद करना चाहते हैं।

यह भी पढ़ें :- कोरोना पर स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी अहम जानकारियां, बताया 85 फीसदी से अधिक मरीज हुए ठीक

फैसल ईदी ने कहा कि उन्होंने भारत सरकार से एंबुलेंस और उनकी टीम के लिए अनुमति मांगी है। एंबुलेंस और उनकी टीम में इमरजेंसी मेडिकल टेक्नीशियंस, ऑफिस स्टाफ, ड्राइवर्स और सपोर्टिंग स्टाफ शामिल हैं।

उन्होंने कहा कि 'हम सभी आवश्यक आपूर्ति की व्यवस्था करेंगे जो हमारी टीम को भारत के लोगों की सहायता करने के लिए आवश्यक है। हम केवल आपकी अनुमति और साथ ही स्थानीय प्रशासन और पुलिस विभाग से आवश्यक मार्गदर्शन के लिए अनुरोध करते हैं। मालूम हो कि ईदी फाउंडेशन के चेयरमान पाकिस्तान में सबसे बड़े चैरिटेबल एम्बुलेंस का नेटवर्क चलाते हैं। कुछ साल पहले इसी फाउंडेशन की मदद से गीता पाकिस्तान से भारत वापस आई थी।

Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned