निरहुआ का अखिलेश यादव पर बड़ा हमला, पहली बार लगाये यह आरोप

निरहुआ का अखिलेश यादव पर बड़ा हमला, पहली बार लगाये यह आरोप

Devesh Singh | Publish: Apr, 19 2019 09:16:00 PM (IST) | Updated: Apr, 19 2019 09:16:01 PM (IST) Azamgarh, Azamgarh, Uttar Pradesh, India

भाजपा आजमगढ़ लोकसभा सीट के प्रत्याशी दिनेश लाल यादव निरहुआ ने शनिवार को सपा मुखिया अखिलेश यादव पर जमकर हमला बोला।

रिपोर्ट:-रणविजय सिंह
आजमगढ़। भाजपा आजमगढ़ लोकसभा सीट के प्रत्याशी दिनेश लाल यादव निरहुआ ने शनिवार को सपा मुखिया अखिलेश यादव पर जमकर हमला बोला। निरहुआ ने कहा कि अखिलेश यादव युवाओं को अनपढ़ बना अपना राजनीतिक भविष्य सुरक्षित करने का सपना देख रहे है जो कभी पूरा नहीं होगा। अखिलेश कहते हैं कि भर्ती में परीक्षा की क्या जरूरत है। परीक्षा नहीं होगी तो कोई युवा पढ़ेगा क्यों। जब नहीं पढ़ेगा तो अपने अधिकार नहीं समझेगा और अखिलेश जैसे लोग उसे वोट बैंक के रूप में इस्तेमाल करते रहेंगे।

भाजपा केंद्रीय कार्यालय पर मीडिया से बात करते हुए निरहुआ ने कहा कि अखिलेश ने कहा आजमगढ़ और इटावा दोनों मेरा घर है। यानि इटावा से इनका परिवार लड़ता ही है अब आजमगढ़ से भी लड़ते रहेंगे। यहां के लोग सिर्फ बैंक बनकर रह जाएंगे। उन्होंने कहा कि राजनीति पर्सनल नहीं बल्कि विचारों की लड़ाई है,ं अखिलेश भईया को लगता है कि राहुल देश का भला कर सकते है मगर सत्य है कि केवल-केवल नरेन्द्र मोदी ही देश का विकास कर सकते है। देश की सीमाए, किसान, मुस्लिम सभी का विकास हो रहा है जबकि अखिलेश यादव केवल जातिवाद प्रथा में विश्वास में रखते है। वे चाहते है कि युवा पीढ़ी अनपढ़ रहे ताकि उसके सहारे वे अपने निजी राजनीति स्वार्थ की पूर्ति करते रहे। ऐसे में अखिलेश केवल युवाओं से झूठ बोलकर उन्हें बरगलाने का काम कर रहे है वहीं नरेन्द्र मोदी देश के विकास को आगे ले जाने का काम कर रहे है। 2014 के पहले देश में ठीक ढंग से टैक्स भी नहीं जुटता था अब देश के विकास के लिए राष्ट्रहित की प्रेरणा बढ़ गयी है और वे टैक्स जमाकर देश को आर्थिक मजबूती प्रदान कर रहे है, वह पैसा सीधा देश के विकास के काम में लग रहा है। दिनेश लाल निरहुआ ने सीधे मुलायम सिंह यादव पर हमला बोलते हुए कहा कि जो नामांकन के बाद अपने जीत का प्रमाण पत्र लेने नहीं आये है वह आखिर कैसे आजमगढ़ का विकास करेंगे। आजमगढ़ में बहने वाली तमसा नदी की हालत बदतर हुई है लेकिन आज तक किसी ने उसके बारे में सोचा तक नहीं, आजमगढ़ के लिए आपका निरहुआ गांव गांव घूम रहा है क्योंकि आजमगढ़ मेरी कर्मस्थली रही है।

निरहुआ ने कहा कि खुद अखिलेश यादव कह चुके हैं वे प्रधानमंत्री की दौड़ में नहीं है। ऐसे में सवाल उठाता है कि वे आजमगढ़ से चुनाव क्यों लड़ रहे हैं। मुलायम सिंह कह चुके है कि मैं सत्ता में आउंगा नहीं इसलिए चाहता हूं कि मोदी पीएम बने। अगर अखिलेश जीत गए तो कहेंगे केंद्र में बीजेपी की सरकार है विकास कैसे करू। जैसा की आज उनके विधायक कहते फिर रहे है। यह सीधे तौर पर आजमगढ़ को पीछे ढकेलने की साजिश है। आखिर अखिलेश यादव कब दूध बेचे है वे केवल युवाओं को भ्रमित कर रहे है ताकि युवा अपनी शक्ति को पहचान न सकें और वे इसकी राजनीतिक रोटी सेंककर अपने परिवारवादको आगे बढ़ाये।
उन्होंने गठबंधन पर सवाल उठाते हुए कहा कि गठबंधन केवल बसपा प्रमुख
मायावती और सपा प्रमुख के बीच हुआ है इसका जनता से कोई सरोकार नहीं है, जबकि जनता प्रधानमंत्री के रूप में नरेन्द्र मोदी को देखना चाहती है निरहुआ को केवल राष्ट्रप्रेम चाहिए। 2019 में मोदी के नेतृत्व में सरकार बनेगी, तभी देश का विकास होगा। इस अवसर पर हरिकेश यादव, अनिल सिंह, संतोष श्रीवास्तव, अनुराग सिंह सन्नी, अजीत पांडेय सहित आदि लोग मौजूद रहे।

 

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned