script6 माह से बंद थी दीनदयाल अंत्योदय रसोई, तोड़ा गया ताला | Deendayal Antyodaya kitchen was closed for 6 months, the lock was broken | Patrika News
बालाघाट

6 माह से बंद थी दीनदयाल अंत्योदय रसोई, तोड़ा गया ताला

बालाघाट. गरीबों को सस्ता भोजन देने के लिए संचालित दीनदयाल अंत्योदय रसोई पिछले 6 माह से बंद थी। गरीबों को सस्ता भोजन नहीं मिल पा रहा था। नपा ने संबंधित संस्था को नोटिस भी जारी किया। लेकिन उन्होंने रसोई को नहीं खोला गया। बुधवार को बालाघाट विधायक, नपा अध्यक्ष, नेता प्रतिपक्ष, पार्षदों की उपस्थिति में […]

बालाघाटJun 26, 2024 / 09:59 pm

Bhaneshwar sakure

दीनदयाल अंत्योदय रसोई

रसोई केंद्र के सामने उपस्थित जनप्रतिनिधि।

बालाघाट. गरीबों को सस्ता भोजन देने के लिए संचालित दीनदयाल अंत्योदय रसोई पिछले 6 माह से बंद थी। गरीबों को सस्ता भोजन नहीं मिल पा रहा था। नपा ने संबंधित संस्था को नोटिस भी जारी किया। लेकिन उन्होंने रसोई को नहीं खोला गया। बुधवार को बालाघाट विधायक, नपा अध्यक्ष, नेता प्रतिपक्ष, पार्षदों की उपस्थिति में रसोई का ताला तोड़ा गया। अब नगर पालिका परिषद दीनदयाल अंत्योदय रसोई का संचालन करेगी। हालांकि, रसोई का संचालन करने के लिए नगर पालिका ने पहले ही परिषद की बैठक में निर्णय पारित किया गया था। रसोई का संचालन 1 जुलाई से प्रारंभ हो जाएगा।
जानकारी के अनुसार दीनदयाल अंत्योदय रसोई का संचालन न्यू अचीवमेंट एजुकेशन एंड वेलफेयर सोसायटी कर रही थी। एजेंसी के पास 31 दिसंबर 2023 तक संस्था के संचालन का कार्यादेश था। जिसके चलते संस्था ने दिसंबर 2023 तक रसोई का संचालन किया। इसके बाद जनवरी 2024 से रसोई का संचालन पूरी तरह से बंद हो गया। 26 जून को बालाघाट विधायक अनुभा मुंजारे, नपा उपाध्यक्ष योगेश बिसेन, नेता प्रतिपक्ष योगराज लिल्हारे, सभापति मानक बर्वे सहित पार्षदों की उपस्थिति में रसोई कक्ष केंद्र का ताला तोड़ा गया। अब यह रसोई 1 जुलाई से नियमित रुप से संचालित होगी।
अनुसरण समिति ने दिया था अल्टीमेटम
दीनदयाल अंत्योदय रसोई के बेहतर संचालन के संबंधित एजेंसी को अल्टीमेटम दिया था। दरअसल, रसोई के संचालन को लेकर अनेक शिकायतें प्राप्त हुई थी। जिसके चलते अगस्त 2023 में ही अनुसरण समिति ने उन्हें रसोई के संचालन को बंद कर नपा को हैंडओवर करने के निर्देश दिए थे। लेकिन संबंधित एजेंसी के पास 31 दिसंबर 2023 तक का वर्क आर्डर था। जिसके चलते संबंधि एजेंसी ने दिसंबर 2023 तक इसका संचालन किया। इसके बाद जनवरी 2024 से लेकर अभी तक रसोई का संचालन पूरी तरह से बंद था।
पांच बार जारी किया गया नोटिस
दीनदयाल अंत्योदय रसोई के बेहतर संचालन व रसोई केंद्र को नपा को हैंडओवर करने के लिए संबंधित एजेंसी को पांच बार नोटिस जारी किया गया था। लेकिन एजेंसी संचालक ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। नपा से मिली जानकारी के अनुसार वर्ष 2023 में रसोई के बेहतर संचालन के लिए एजेंसी को तीन बार नोटिस दिया गया था। जबकि मार्च 2024 से लेकर अभी तक रसोई को नपा को हैंडओवर करने के लिए तीन बार नोटिस दिया गया। जिसमें नोटिस 14 जून, दूसरा नोटिस 21 जून और तीसरा नोटिस 24 जून को जारी किया गया था।
5 रुपए में मिलता है भोजन
दीनदयाल अंत्योदय रसोई में गरीबों को महज 5 रुपए में भरपेट भोजन मिल रहा था। जनवरी 2024 के बाद से गरीबों को सस्ता भोजन मिलना बंद हो गया था। रसोई के संचालन के शासन की ओर से राशन और 5 रुपए सब्सिडी प्रदान के रुप में दिए जाते थे। जबकि 5 रुपए की सब्सिडी नगर पालिका की ओर से दी जाती है।
इनका कहना है
दीनदयाल रसोई योजना का संचालन जनवरी माह से नहीं हो पा रहा था। गरीबों को सस्ता भोजन नहीं मिल पा रहा था। संबंधित एजेंसी को अनेक बार नोटिस जारी किया गया। लेकिन उन्होंने रसोई को नपा के हैंडओवर नहीं किया था।
-योगराज लिल्हारे, नेता प्रतिपक्ष, बालाघाट
परिषद की बैठक में रसोई का संचालन नपा के माध्यम से होने का प्रस्ताव पारित किया गया था। 1 जुलाई से इस योजना का संचालन प्रारंभ किया जाएगा। रसोई के संचालन के लिए 5 सदस्यों की समिति बनाई जाएगी।
-योगेश बिसेन, नपा उपाध्यक्ष, बालाघाट
रसोई योजना को संचालित करने की जिम्मेदारी नगरीय निकाय थी। शासन की यह महत्वपूर्ण योजना है। पिछले 5 माह से इस रसोई योजना को बंद रखा गया है। जो कि निंदनीय है। आज इस रसोई केंद्र का ताला खोला गया है।
-अनुभा मुंजारे, विधायक, बालाघाट

Hindi News/ Balaghat / 6 माह से बंद थी दीनदयाल अंत्योदय रसोई, तोड़ा गया ताला

ट्रेंडिंग वीडियो