script पुत्तूर थाने के तीन पुलिस कर्मी निलंबित | Three police personnel suspended from Puttur police station | Patrika News

पुत्तूर थाने के तीन पुलिस कर्मी निलंबित

locationबैंगलोरPublished: Jul 02, 2019 12:19:30 am

दक्षिण कन्नड़ जिले के पुत्तूर ग्रामीण पुलिस थाने में एक नाबालिग लडक़ी के उत्पीडऩ के आरोप में दो महिला कांस्टेबल सहित तीन पुलिस कर्मचारियों को निलंबित किया गया है।

पुत्तूर थाने के तीन पुलिस कर्मी निलंबित

बेंगलूरु. दक्षिण कन्नड़ जिले के पुत्तूर ग्रामीण पुलिस थाने में एक नाबालिग लडक़ी के उत्पीडऩ के आरोप में दो महिला कांस्टेबल सहित तीन पुलिस कर्मचारियों को निलंबित किया गया है। विभागीय जांच के निर्देश दिए गए हैं।


जानकारी के अनुसार पुत्तूर तहसील के ओलामोगरू गांव निवासी मुमताज खान के घर में आभूषण चोरी हो गए थे। मुमताज खान ने ग्रामीण पुलिस थाने में शिकायत दर्ज करवाई थी। पुलिस ने मामला दर्ज कर एक महिला और उसकी पुत्री को थाने बुलाया। आरोप हैं कि पुलिस ने दोनों को उत्पीडि़त किया।

लडक़ी को पीटा गया और उसे करंट के झटके भी दिए गए। जब लडक़ी की हालात चिंताजनक हुई तो उसे सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया गया। सूचना मिलने पर लडक़ी के रिश्तेदारों और अन्य लोगों ने अस्पताल के सामने धरना दिया और पुलिस के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। दक्षिण कन्नड़ जिले के पुलिस अधीक्षक एमबी लक्ष्मी प्रसाद ने कांस्टेबल गायत्री देवी, प्रश्निता और निदेन को निलंबित कर दिया।

लक्ष्मी प्रसाद ने अस्पताल जाकर पीडि़ता का बयान लिए। पीडि़ता ने बताया कि पुलिस ने कोरे कागज पर जबरन हस्ताक्षर लिए हैं। चोरी मानने के लिए उसके शरीर पर गरम पानी डाला। लाठियों और ***** से बुरी तरह मारा गया। हाथ-पैर बांध कर करंट के शॉक दिया। लक्ष्मी प्रसाद ने डीएसपी एस. गणपति को जांच की जिम्मेदारी दी और मामला दर्ज करने को कहा।

घायल छात्रा की स्थिति चिंताजनक
बेंगलूरु. दक्षिण कन्नड़ जिले के उल्लाल में युवक हमले में गंभीर रूप से घायल छात्रा दीक्षा (२०) की हालत चिंताजनक बताई गई है। उसे आइसीयू में रखा गया है। दक्षिण कन्नड़ जिले के पुलिस अधीक्षक एमबी लक्ष्मी प्रसाद ने बताया कि दीक्षा की दो बार शल्य चिकित्सा करने के बाद भी खून रिसाव पूरी तरह रुका नहीं है। देरलाकट्टे निवासी दीक्षा एक निजी कॉलेज में एबीए कर रही है। शक्ति नगर निवासी सुशांत (२६) कई दिन से दीक्षा से प्रेम करता था। दीक्षा अपना ध्यान पढ़ाई पर देना चाहती थी।


उसी कारण उसने सुशांत से बात करना बंद कर दिया। सुशांत उसे मानसिक रूप से परेशान करता था। दीक्षा ने उसकी शिकायत पुलिस थाने में दर्ज करवाने की चेतावनी दी थी। इसी बीच दीक्षा गत दिवस कॉलेज से घर लौट रही थी तभी सुशांत ने उस पर चाकू से हमला कर घायल कर दिया। दीक्षा के शोर मचाने पर कुछ लोगों ने पुलिस को सूचित कर दिया। सुशांत ने खुद भी गले में चाकू मार ली। दीक्षा और सुशांत को निजेी अस्पताल में भर्ती करवाया गया। उन्होंने बताया कि सुशांत की हालत खतरे से बाहर है। दीक्षा के बारे में अभी कुछ कहा नहीं जा सकता है। उल्लाल पुलिस थाने में जानलवा हमला करने का मामला दर्ज किया गया है।

ट्रेंडिंग वीडियो