रमजान में इबादत के लिए मददगार होगा एप

एप के जरिए आप जान सकते हैं कि कौन सा रोजा कितने बजे खुलेगा। कुरआन की तिलावत में भी एप मददगार होगा।

By: suchita mishra

Published: 16 May 2018, 04:49 PM IST

बरेली। रमजान का महीना शुरू होने वाला है और आज सभी की निगाहें चांद पर होंगी।अगर आज चांद दिख जाता है तो गुरुवार से रमजान का मुबारक महीना शुरू हो जाएगा। चांद की तस्दीक के बाद दरगाह आला हजरत के दारुल इफ्ता से एलान कर दिया जाएगा। चांद देखने के बाद तरावीह शुरू हो जाएगी। इस बार रमजान में मोबाइल एप भी इबादत में मददगार साबित होगा। व्यस्त लोगों के लिए रमजान की मोबाइल एप भी लांच हुई है जिसमें सेहरी-इफ्तार और नमाज का समय, रमजान समेत तमाम जानकारी मौजूद है। कुरआन की तिलावत तक में मोबाइल एप मददगार साबित होगी।

एप करेगा मदद
रमजान के महीने में मुसलमान इबादत करते हैं और अपने गुनाहों से तौबा करते हैं। इबादत में मदद के लिए रमजान में मोबाइल एप भी लांच हुए हैं जिनको आप स्मार्ट फोन में डाउनलोड कर इबादत को आसान बना सकते हैं। इन एप में नमाज के साथ ही सेहरी इफ्तार के समय की जानकारी मिल सकती है। एप के जरिए कौन सा रोजा कितने बजे खुलेगा (इफ्तार) और कितने बजे रोजा रखना है(सेहरी) इसका विवरण भी आसानी से मिल जाएगा।

नमाज़ ए तरावीह: वक़्त व दिन मुकम्मल
माह ए रमज़ान के रोज़े अल्लाह ने हर मुसलमान मर्द व औरत जो अकिल और बालिग हो फ़र्ज़ किये। इस माह में पढ़ी जाने वाली विशेष नमाज़ नमाज़ ए तरावीह को सुन्नत। इसमें पूरा क़ुरआन हाफिज खड़े होकर सुनाते हैं और नमाज़ी खड़े होकर सुनते हैं। दरगाह आला हजरत से जुड़े नासिर कुरैशी ने बताया कि नमाज़ियों की सहूलियत के हिसाब से तरावीह का वक़्त व मुकम्मल कुरआन का दिन मुकर्रर कर दिया गया है। अमूमन शहर की सभी छोटी बड़ी मस्जिदो में रात 9 बजे से 9.15 के बीच तरावीह की नमाज़ शुरू होगी।

Show More
suchita mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned