कोविड वार्ड: संक्रमितों के पास परिजनों का घेरा, बढ़ा रहा वायरस फैलाने का खतरा

कोविड वार्ड में नहीं लगी रोक, परिजनों की आवाजाही बेरोकटोक
-जिला कलक्टर ने निर्धारित किया था परिजनों के मिलने का समय
-संक्रमण बढऩे के चलते वार्ड में परिजनों को किया गया था प्रतिबंधित

By: Mahendra Trivedi

Published: 29 Nov 2020, 08:59 PM IST

बाड़मेर. जिला अस्पताल का कोविड वार्ड करीब 40-50 के करीब संक्रमित भर्ती। चिकित्सकों की टीम पॉजिटिव की जांच करती हुई। वहीं करीब प्रत्येक संक्रमित के पास बैठे परिजन। जबकि वार्ड में संक्रमितों के पास आने पर रोक लगाई जा चुकी है। लेकिन पालना कहीं नहीं दिखी। वार्ड के बाहर तैनात पुलिसकर्मी भी किसी को रोकते नहीं दिखे।
महामारी के बढ़ते प्रकोप के चलते गाइडलाइन की सख्ती से पालना व प्रोटोकॉल को लागू करने को लेकर जिला कलक्टर ने कोविड वार्ड में दिनभर होने वाली परिजनों की आवाजाही को प्रतिबंधित करने के लिए 24 नवम्बर को आदेश दिए थे। जिसमें संक्रमितों से मिलने का समय निर्धारित सुबह 11 से 12 तथा शाम को 6 से 7 बजे प्रतिदिन दो घंटे किया था।
खतरा अधिक होने के कारण लगाई रोक
कोविड वार्ड में संक्रमितों के भर्ती होने के कारण यहां पर वायरस का खतरा सर्वाधिक है। भर्ती मरीजों के कारण पूरे दिन परिजनों की आवाजाही लगी रहती। इससे उनके भी संक्रमण के मामले सामने आने की आशंका के चलते प्रतिबंधित किया गया।
अपने साथ ले जा रहे संक्रमण
चिकित्साकर्मियों की टीमें तो पूरे संसाधनों और सुरक्षा के साथ यहां पर संक्रमितों की जांच और उपचार कर रही है। जबकि यहां पर संक्रमितों के पास बैठे रहने वाले परिजन संक्रमण को साथ लेकर जा रहे हैं। इससे संक्रमण फैलने का खतरा और बढ़ सकता है। वार्ड में कोई भी परिजन गाइडलाइन की पालना करता नहीं दिखा। संक्रमित के ठीक पास में सटकर बैठे रहे और सुरक्षा की अनदेखी साफ नजर आई।

Mahendra Trivedi Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned