रोडवेज: अब निगम की बसों के साथ अनुबंधित बसें भी दौड़ेंगी

रोडवेज: प्रदेश में अब अनुबंधित बसें चलाने की तैयारी
-कोविड के बाद रोडवेज ने नहीं चलाई एक भी अनुबंधित बस
-अब मुख्यालय ने मांगी सभी डिपो से अनुबंधित बसों की जानकारी
-लंबी दूरी पर संचालित होती है ये बसें
-अनुबंधित में स्लीपर और लग्जरी बसें शामिल

By: Mahendra Trivedi

Published: 30 Sep 2020, 08:54 PM IST

बाड़मेर. कोरोना महामारी के चलते लॉकडाउन के बाद से बंद रोडवेज की अनुबंधित बसें चलाने की तैयारी की जा रही है। रोडवेज ने अनलॉक के बाद केवल निगम की बसों का संचालन शुरू किया था। इस दौरान अनुबंधित बसों का संचालन शुरू नहीं किया गया। इसके चलते अधिकांश लंबे मार्ग पर रोडवेज की बसें ही दौड़ रही है। अब अनुबंधित बसों के संचालन को लेकर मुख्यालय पर तैयारी शुरू हो गई है। उम्मीद की जा रही है कि अक्टूबर महीने में अनुबंधित बसों का संचालन शुरू हो जाएगा।
प्रदेश में रोडवेज ने अनलॉक के बाद कुछ स्थानों पर संचालन शुरू किया था। इसके बाद अन्य जिलों में बसें शुरू हो गई। लेकिन किसी भी डिपो से अनुबंधित बसों का संचालन शुरू नहीं किया गया। इसके चलते लंबे रूट पर लग्जरी व स्लीपर बसों की कमी यात्रियों को काफी खल रही है। रोडवेज की साधारण बसों में सफर करना पड़ रहा है।
अब मांगी जा रही है अनुबंधित की जानकारी
रोडवेज मुख्यालय की ओर से सभी डिपो से अनुबंधित बसों को लेकर जानकारी मांगी जा रही है। जिसमें कितनी बसें अनुबंधित है। कहां-कहां संचालन किया जा रहा था। आदि की जानकारी जुटाई जा रही है। इससे उम्मीद जताई जा रही है कि अब तक बंद पड़ी अनुबंधित बसों का संचालन शीघ्र शुरू होगा।
लंबी दूरी के यात्रियों को मिलेगी राहत
अनुबंधित बसें चलने से लंबी दूरी के यात्रियों को राहत मिलेगी। रोडवेज की अनुबंधित बसों में लग्जरी व स्लीपर बसें शामिल है। जबकि निगम की वर्तमान में डीलक्स डिपो के अलावा लंबी दूरी के मार्ग पर संचालित हो रही बसें साधारण है। जिसमें अधिक दूरी की यात्रा यात्रियों के लिए थकावट भरी साबित हो रही है। अनुबंधित बसें शुरू होने से लंबी दूरी की यात्रा आसान हो जाएगी।
इसलिए नहीं चलाई
अनलॉक के बाद निगम ने केवल खुद की बसों का संचालन किया। इस दौरान यात्री भार काफी कम मिलने से अनुबंधित बसें चलाने पर आर्थिक नुकसान का खतरा ज्यादा था। निगम की बसें कैंसिल करने में नुकसान नहीं है। जबकि अनुबंधित बसों को निरस्त करने निगम को नुकसान भुगतना पड़ता है।
हां जानकारी मांगी है
अभी स्थानीय डिपो से निगम की बसों का ही संचालन किया जा रहा है। मुख्यालय से अनुबंधित बसों की जानकारी मांगी गई है।
उमेश नागर, मुख्य प्रबंधक बाड़मेर आगार

Mahendra Trivedi Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned