पाक रेडियो के झूठे जहर पर भारत के सच्च की एयर स्ट्राइक

-हाई पॉवर ट्रांसमीटर रोक रहा पाक के नापाक सिग्नल्स
- चौहटन की पहाड़ी से 100 किमी तक पहुंच रहा है सिग्नल
- सिंध इलाके में अब भारतीय तरानों सुनने लगे पाक के लोग

By: Ratan Singh Dave

Published: 15 Sep 2020, 06:54 PM IST

बाड़मेर पत्रिका.
पाकिस्तान रेडियो के जरिए दशकों से सीमावर्ती क्षेत्र में भ्रामक और भड़काऊ प्रसारण के जरिए जहर उगलने का खेल खेल रहा था, वहां अब सीमावर्ती बाड़मेर जिले के चौहटन की पहाड़ी से 102 किमी तक एफएम ट्रांसमीटर के प्रसारण ने पाकिस्तान की सीमा तक सच्ची एयरस्ट्राइक कर दी है। पाकिस्तान के सिंध इलाके मेे भारत का एफएम रेडियो सुनने से वहां के लोगों को हकीकत का पता चलने लगा है वहीं सीमावर्ती क्षेत्र के लोगों की भी अब पाक रेडियो सुनने की आदत छूटने लगी है।
पश्चिमी सीमा के इलाके में पाकिस्तान रेडियो का प्रसारण दशकों से है। हकीकत हिन हालजी, आईना, ऊर्दू फरमाइशी कार्यक्रमों का रेडियो पर लगातार प्रसारण कर पाक भारत के खिलाफ बयान देता रहा है। कश्मीर को मुद्दा बनाकर पाक भ्रामक जानकारी फैलाने का कुकत्र्य किया गया। सीमांत क्षेत्र के लोग फिल्मी नगमों,चुटकलों और हास्य के कार्यक्रम को सुनने के शौक में यह भ्रामक जानकारी भी झेलते रहे। उधर पाकिस्तान में तो रेडियो सुनने वाले सिंध क्षेत्र के लोग इसी से वाकिफ रहे कि जो पाक रेडियो कह रहा है वही सच है।
चौहटन से हुई एयर स्ट्राइक
सीमांत क्षेत्र के चौहटन की पहाडिय़ों से करीब एक साल पहले एफएम ट्रांसमीटर का प्रसारण शुरू किया गया। शुरूआती दिनों में तो यह 10 से 20 किमी तक ही प्रसारण कर रहा था लेकिन अब यह 100 किमी तक की पूर्ण क्षमता में आने से चौहटन सहित सीमावर्ती गांवों में तो पहुंच ही गया है सीमा के उस पार 30 से 40 किमी तक कई गांवों में पहुंच गया है। जहां इसके जरिए सही जानकारी मिल रही है।
जहर का जवाब अमृत से
सरहद के उस पार से टीवी चैनल्स और रेडियो पर जहरीले और विष भरे भड़काऊ प्रसारण से सामाजिक सदभाव को बिगाडऩे के प्रयास हमेशा होते रहे हैं। पाक के विष भरे शब्दों के जवाब में अमृत घोलकर सामाजिक एकता को मजबूती दे रहा है। सवेरे पांच बजे से रात ग्यारह और कभी बारह बजे तक अठ्ठारह घंटों तक समाचार बुलेटिन, देश भक्ति संगीत, गाने तराने, भजन कीर्तन, खेल जगत, खेती किसानी, महिला सशक्तीकरण, रोजगार समाचार, राजस्थानी गीत, लोक संगीत, युवाओं सहित सरकार की योजनाओं के संबंध में विस्तार से जानकारियां रिले की जा रही है। यह 102.3 मेगा हार्टज फ्रिक्वेंसी पर यह एफएम टॉवर सुनाई दे रहा है जिसे रेडियों और मोबाइल पर सुना जा सकता है। सीमा के उस पार सिंध के बड़े इलाके में भी एफएम गूंज सुनाई देती है जहां हजारों लोग इसके फेन बन चुके हैं जिन्हें कायज़्क्रम पसन्द आ रहे हैं।

100 किमी से अधिक हवाई दूरी तक क्षमता
साढ़े छह सौ मीटर ऊंची पहाड़ी पर 150 मीटर ऊंचाई तक बने टॉवर से एफएम का 20 किलोवॉट क्षमता का ट्रांसमीटर प्रदेश का पहला और बड़ा एफएम संचालित है जो 120 किमी हवाई दूरी तक कार्यक्रमों को रिले करने में सक्षम है। शुरू से ही इस प्रोजेक्ट से जुड़ा रहा हूँ। सीमा पार के सिग्नल्स को रोकने में कामयाबी हासिल हुई है।
जगदीशचंद्र माथुर - तकनीकी सहायक, चौहटन हिल

Ratan Singh Dave
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned