भजपा विधायक रवींद्रनाथ त्रिपाठी के परिवार में बगावत, बीजेपी ने टिकट नहीं दिया तो भाई-भतीजे निर्दल चुनाव मैदान में कूदे

  • विधायक रविंद्र त्रिपाठी के भाई और भतीजों ने बीजेपी से मांगा था जिला पंचायत सदस्य के लिये टिकट
  • भाजपा से टिकट नहीं मिलने पर वार्ड नंबर 7, 8 और नौ से तीनों ने किया निर्दलीय नामांकन

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

भदोही. भदोही जिले की पंचायत चुनाव में भाजपा विधायक रविन्द्र नाथ त्रिपाठी के भाई-भतीजो ने भाजपा से बगावत कर अपना नामांकन कर दिया है। विधायक के एक भाई और दो भतीजो. ने अलग अलग वार्ड से अपना नामांकन कर दिया है। विधायक के भाई-भतीजो का दावा है कि उनका विधायक से कोई लेना देना नही है और सबका अपना-अपना अलग बिजनेस है। विधायक के भाई और भतीजों ने भाजपा से टिकट के लिए आवेदन किया था लेकिन टिकट न मिलने बाद भी उन लोगों ने चुनाव लड़ने का फैसला किया है।


भदोही जिले के 26 वार्डों को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने अपने प्रत्याशियों की घोषणा की थी। वार्ड संख्या 7 , 8 और 9 से भदोही से भाजपा के विधायक रविंद्र नाथ त्रिपाठी के भाई और दो भतीजे टिकट मांग रहे थे। लेकिन भाजपा ने उनको टिकट नहीं दी उसके बाद अब विधायक के भाई और दो भतीजों ने अपना नामांकन कर दिया है, जिससे जिला पंचायत के चुनाव में सियासी सरगर्मी बढ़ गई है।

 

जिला पंचायत की कुर्सी के लिए भाजपा पूरी ताकत से चुनावी मैदान में उतरी है ऐसे में उनकी ही पार्टी के विधायक के तीन परिजनों का चुनाव लड़ना भाजपा के लिए मुसीबत खड़ी कर सकता है। भाजपा के विधायक रविंद्र नाथ त्रिपाठी के भाई निवर्तमान ब्लॉक प्रमुख अनिरुद्ध त्रिपाठी ने जिला पंचायत के वार्ड नंबर 9 से और विधायक के भतीजे निवर्तमान जिला पंचायत सदस्य सचिन त्रिपाठी ने वार्ड नंबर 7 और विधायक के ही भतीजे चंद्र भूषण त्रिपाठी ने वार्ड नंबर 8 से अपना नामांकन कर दिया है।


नामांकन के बाद भाजपा विधायक रविंद्र नाथ त्रिपाठी के भाई और भतीजे का कहना है कि विधायक से उनका कोई वास्ता नहीं है हम लोग उनसे अलग हैं हम सभी का व्यापार भी उनसे अलग है। साथ ही विधायक के भाई ने यह भी कहा कि भाजपा में बहुत से नए चेहरे आ गए हैं उनकी जमानत भी बचना मुश्किल है।

By Mahesh Jaiswal

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned