दलाल प्रमोद की डीआइजी निवास पर हुई थी कोरोना जांच

रेंज के पूर्व पुलिस उपमहानिरीक्षक लक्ष्मण गौड के नाम पर रिश्वत लेने के मामले में जांच कर रही भष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने दूसरे दिन रविवार को डीआइजी निवास पर तैनात संतरी और अन्य पुलिसकर्मियों के हाजिरी रजिस्टर की जांच की और प्रमाणित कॉपी रिकॉर्ड में ली है।

By: rohit sharma

Published: 29 Jun 2020, 03:04 AM IST

भरतपुर. रेंज के पूर्व पुलिस उपमहानिरीक्षक लक्ष्मण गौड के नाम पर रिश्वत लेने के मामले में जांच कर रही भष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने दूसरे दिन रविवार को डीआइजी निवास पर तैनात संतरी और अन्य पुलिसकर्मियों के हाजिरी रजिस्टर की जांच की और प्रमाणित कॉपी रिकॉर्ड में ली है। इसके अलावा डीआइजी की सरकारी गाडिय़ों की लॉगबुक भी एसीबी ने मांगी है। एसीबी ने डीआइजी के निवास पर स्टाफ जिसमें कांस्टेबल चालक व सुरक्षाकर्मियों के मोबाइल नम्बर लिए हैं।

उधर, सामने आया कि दलाल प्रमोद शर्मा की भरतपुर में ही डीआइजी के परिवार के साथ कोरोना संक्रमण की जांच लिए सैम्पल लिया गया था। इससे दलाल व डीआइजी के परिवार से उनकी नजदीकियों का खुलासा होता है। गौरतलब रहे कि रेंज डीआइजी के नाम पर जयपुर निवासी प्रमोद शर्मा ने थाना उद्योगनगर एसएचओ को डीआइजी का संरक्षण बनाए रखने की एवज में पांच लाख रुपए की रिश्वत लेते पकड़ा था। सूत्रों के अनुसार एसीबी की टीम अब दलाल प्रमोद शर्मा को जल्द पीसी रिमाण्ड पर पूछताछ के लिए ले सकती है। माना जा रहा है कि उसके बाद डीआइजी समेत आवास पर तैनात संतरी व अन्य स्टाफ को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ कर सकती है। उधर, सरकार के पूर्व डीआइजी गौड को एपीओ करने के बाद रविवार को उन्होंने सरकारी बंगला खाली कर दिया और जयपुर रवाना हो गए।


कोरोना रिपोर्ट में दलाल प्रमोद शर्मा का नाम अंकित

दलाल प्रमोद शर्मा डीआइजी के परिवार में कितना नजदीक था, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि एसपी निवास पर कुछ स्टाफ के कोरोना संक्रमित निकलने पर डीआइजी के कार्यालय व निवास पर कोरोना की सैम्पलिंग हुई थी। इसमें डीआइजी के परिवार के साथ छटवां व्यक्ति दलाल प्रमोद शर्मा था। छह जून को आई जांच रिपोर्ट में डीआइजी लक्ष्मण गौड के नाम के बाद 116 नम्बर पर दलाल प्रमोद शर्मा का नाम, फोन नम्बर व पता अंकित है।


थाना प्रभारियों की निकलवा रही सीडीआर

सूत्रों के अनुसार एसीबी अब भरतपुर व धौलपुर जिले में तैनात कुछ थाना प्रभारियों के मोबाइल नम्बर की सीडीआर निकलवा रही है। माना जा रहा है कि दलाल प्रमोद शर्मा इन थानेदारों से संपर्क था और फोन कर काम निकलवाता था। उधर, साथ ही टीम डीआइजी, उनके परिवार के सदस्य व स्टाफ की भी कॉल डिटेल ले रही है। जांच में सामने आया कि प्रमोद शर्मा सरकारी गाड़ी लेकर रुदावल व शहर के अटलबंध इलाके में गया था। इसकी जानकारी लॉकबुक से मिली है। वहीं, दलाल प्रमोद शर्मा परिवार के सदस्यों को जयपुर से भरतपुर लाकर छोड़ता था।


एजेंसी जांच कर रही सब स्पष्ट हो जाएगा

उधर, चिकित्सा राज्यमंत्री डॉ.सुभाष गर्ग ने मामले पर कहा कि एजेंसी अपना काम कर रही है जल्द स्पष्ट हो जाएगा। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार समाप्त करने के लिए आम आदमी को आगे आना होगा। कोई रिश्वत की मांग करता है तो उसे रिकॉर्ड करें। चाहे मंत्री, कलक्टर, एसपी, डीआइजी, सरपंच हो या अन्य कोई अधिकारी हो। भ्रष्टाचार को किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

rohit sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned