भिलाई. जोधपुर में गुरुकुल की नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म के आरोप में 56 माह से जेल में बंद आसाराम व उसके सेवादारों को लेकर आखिरकार फैसला सुना दिया गया है। न्यायाधीश मधुसूदन शर्मा ने बड़ा फैसला सुनाते हुए आसाराम को दोषी करार दे दिया है। कोर्ट का फैसला आते ही पुलगांव पुलिस ने दुर्ग के ग्राम बेलौदी में बने आसाराम के आश्रम में दबिश दिया।

सुरक्षा को देखते हुए वहां की स्थिति का जायजा लिया। दोपहर तक पुलिस यहां माहौल का जायजा लेती रही। पुलिस के कदमों की आहट सुनकर आसाराम के अनुयायियों में हड़कंप मचा रहा। यहां आश्रम में वे पूजा पाठ कर रहे थे। पुलिस ने बताया कि फैसले के मद्देनजर आश्रम में दबिश दी गई थी। ताकि किसी भी तरह की अप्रिय स्थिति से निपटा जा सके।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned